क्यों सुंदर की तारीफ किए बिना नहीं रह सके कप्तान रोहित

कोलंबो : बांग्लादेश के खिलाफ बुधवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में निडास ट्रॉफी त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के पांचवें मैच में तीन विकेट लेकर भारत को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले ऑफ स्पिन गेंदबाज वॉशिंगटन सुंदर की कप्तान रोहित शर्मा ने जमकर तारीफ की है. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहित के 89 और सुरेश रैना के 47 रनों की पारी के दम पर बांग्लादेश को 177 रनों का लक्ष्य दिया था. बांग्लादेश को इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक मजबूत शुरुआत की जरूरत थी जो सुदंर ने उन्हें हासिल नहीं करने दी.

सुंदर की शानदार गेंदबाजी के सामने बांग्लादेश के शुरुआती गेंदबाजों ने घुटने टेक दिए थे. उन्होंने पहले 3 खिलाड़ियों को जल्दी जल्दी पेवेलियन भेज कर 40 रनों तक ही बांग्लादेश के तीन विकेट चटका दिए थे और मैच भारत की ओर मोड़ दिया.

रोहित ने मैच के बाद कहा, “वॉशिंगटन सुंदर का स्पैल शानदार था. नई गेंद से गेंदबाजी करना आसान नहीं होता. बाकी गेंदबाजों ने भी अच्छी गेंदबाजी की. वॉशिंगटन ने काफी बहादुरी से गेंदबाजी की. वह फ्लाइट देने से डरे नहीं. वह साफ तौर पर जानते थे कि उन्हें क्या चाहिए. इससे मुझे राहत मिली. उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ भी अच्छी गेंदबाजी की थी.”

वॉशिंगटन सुंदर ने पहले स्पेल में 3 ओवर में सिर्फ 18 रन देकर 3 विकेट झटके. अब वॉशिंगटन सुंदर सबसे कम उम्र में टी20 क्रिकेट में 3 विकेट लेने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. उनसे पहले ये रिकॉर्ड अक्षर पटेल के नाम था. अक्षर पटेल ने 2015 में जिंबाब्वे के हरारे में 21 साल और 178 दिनों की उम्र में 17 रन देकर 3 विकेट लिए थे. वॉशिंगटन सुंदर ने 18 साल और 160 दिनों की उम्र में टी20 क्रिकेट में 3 विकेट लेने का कारनामा किया है.

कप्तान रोहित के फॉर्म की वापसी
रोहित ने इस मैच में फॉर्म में वापसी करते हुए 61 गेंदों में पांच चौके और इतने ही छक्के मारते हुए अर्धशतकीय पारी खेली. अपनी बल्लेबाजी पर रोहित ने कहा, “मेरे लिए फॉर्म में वापसी करना जरूरी था. विकेट बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं थी इसलिए मैंने अपना समय लिया. मैं जानता था कि नया बल्लेबाज आएगा तो उसे खेलने में दिक्कत होगी.” रोहित ने रैना के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी की. रैना पर रोहित ने कहा, “रैना भी शानदार फॉर्म में हैं. उम्मीद है कि वह फाइनल में भी इस तरह की बल्लेबाजी करेंगे.”

गौरतलब है कि मैच में बांग्लादेशी बल्लेबाजों ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से दर्शकों का दिल जीत लिया था. इसमें सबसे उल्लेखनीय मुश्फिकर रहीम की नाबाद 72 रनों की पारी थी. जिसमें उन्होंने केवल 55 गेंदों का सामना कर 8 चौकों और एक छक्का लगाया था.

भारतीय गेंदबाजों में सुंदर के अलावा युजवेंद्र चहल ने चार ओवर में 5.25 के औसत से 21 रन देकर एक विकेट लिया. वहीं अंतिम ओवरों में शार्दुल ठाकुर ने भी बढ़िया गेंदबाजी कर मुश्फिकर के इरादों पर पानी फेर दिया. ठाकुर ने अपने चारओवर में 37 रन दिए. जबकि उनके 17वें ओवर में आठ रन और 19वें ओवर में केवल 5 रन गए थे जिसकी वजह से बांग्लादेश के लिए अंतिम ओवर असंभव सा हो गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help