उपचुनाव नतीजों के बाद यूपी में 37 IAS का तबादला, पांडियन होंगे गोरखपुर के नए DM

यूपी उपचुनाव नतीजों के बाद योगी सरकार ने 37 आईएएस अधिकारियों का तबादला कर दिया है. काउंटिंग के आंकड़े जारी न करने को लेकर विवादों में घिरे गोरखपुर के जिलाधिकारी राजीव रौतेला पर भी तबादले की गाज गिरी है. विजयन पांडियन गोरखपुर के नए डीएम होंगे. तबादले की गाज गोरखपुर के साथ बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह पर भी गिरी है.

जिन प्रमुख जिलाधिकारियों के तबादले हुए हैं उनके नाम-

– शीतल वर्मा सीतापुर की नई जिलाधिकारी होंगी.

– अखिलेश कुमार मिश्रा पीलीभीत के नए जिलाधिकारी होंगे

– गोरखपुर के नए डीएम विजयन पांडियन बनाए गए हैं.

– आजमगढ़ के डीएम चंद्र भूषण सिंह को अलीगढ़ का जिलाधिकारी बनाया गया है.

– शिवाकांत द्विवेदी को चित्रकूट से आजमगढ़ भेजा गया है.

– भदोही के जिलाधिकारी विशाखजी चित्रकूट भेजे गए

– राजेंद्र प्रसाद को निदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन से जिलाधिकारी भदोही बनाया गया है.

– कृष्णा करुणेश को हापुड़ से जिलाधिकारी बलरामपुर, प्रमोद कुमार उपाध्याय को जिलाधिकारी सोनभद्र से जिला अधिकारी हापुड़, हेमंत कुमार को जिलाधिकारी चंदौली से जिलाधिकारी अमरोहा बनाया गया है.

– नवनीत सिंह चहल को जिलाधिकारी अमरोहा से जिलाधिकारी चंदौली बनाया गया है.

– राकेश कुमार मिश्र को जिलाधिकारी बलरामपुर से विशेष सचिव एवं अपर आयुक्त चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग में भेजा गया है.

– अमित कुमार सिंह जिलाधिकारी हाथरस को सोनभद्र का नया जिलाधिकारी बनाया गया है.

– रमा शंकर मौर्य अपर निदेशक उद्योग कानपुर, हाथरस के नए जिलाधिकारी होंगे.

– भवानी सिंह खंगारोत बलिया के नए जिलाधिकारी होंगे.

बता दें कि गोरखपुर उपचुनाव की काउंटिंग के समय राजीव रौतेला चर्चा में आए थे. बीजेपी उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल पहले राउंड की काउंटिंग के बाद आगे चल रहे थे, लेकिन दूसरे राउंड की गिनती पूरी होने के बाद बीजेपी जैसे ही पिछड़ी तो जिले के डीएम राजीव रौतेला ने नतीजों की घोषणा ही रोक दी थी. सवाल उठने के बावजूद डीएम देरी से काउंटिंग के नतीजे जारी कर रहे थे. चुनाव नतीजों की घोषणा में देरी पर चुनाव आयोग ने रिपोर्ट भी मांगी है.

डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह इसलिए आए थे चर्चा में

कासगंज हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर जब दबाव बढ़ रहा था तब फेसबुक पर इस हिंसा को लेकर एक जिलाधिकारी के पोस्ट ने विवाद बढ़ा दिया था. यह डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह थे. बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कासगंज घटना पर फेसबुक पर एक पोस्ट किया था. उनके 39 शब्दों के इस छोटे से पोस्ट के बाद विवाद खड़ा हो गया था. उस दौरान यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि डीएम के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र ने 28 जनवरी को अपने पोस्ट में लिखा था, “अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मुहल्लों में जबर्दस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए…”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help