आज के प्रमुख समाचार : जेल में बंद वीके शशिकला के पति नटराजन का निधन, 45 दिन कोमा में रहने के बाद ड्यूटी पर लौटे चेतन चीता

नई दिल्लीः तमिलनाडु में सत्ताधारी AIDMK से निष्काषित नेता वीके शशिकला के पति नटराजन मरुथप्पा का सोमवार देर रात चेन्नई में निधन हो गया. रिपोर्टस के मुताबिक नटराजन 76 साल के थे और गंभीर बीमारी के कारण उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. वहीं, देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज 43 प्रसिद्ध हस्तियों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित करेंगे. वहीं एक बार फिर भारतीय सेना के जवान का हौंसला देखने को मिला है. जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के हाजिन क्षेत्र में आतंकियों के साथ एक साल पहले गोलीबारी में बुरी तरह घायल हुए CRPF कमांडेंट चेतना चीता दोबारा ड्यूटी पर लौट आए हैं. बता दें कि पिछले साल जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान चीता को 9 गोलियां लगी थी.

जेल में बंद वीके शशिकला के पति नटराजन मरुथप्पा का निधन, छाती में इंफेक्शन से गई जान
तमिलनाडु में सत्ताधारी AIDMK से निष्काषित नेता वीके शशिकला के पति नटराजन मरुथप्पा का सोमवार देर रात चेन्नई में निधन हो गया. नटराजन 76 साल के थे. गंभीर बीमारी की वजह से उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. चेन्नई के ग्लेनैगल्स ग्लोबल अस्पताल में रात 1.35 बजे नटराजन की मौत हुई. ग्लेनैगल्स ग्लोबल अस्पताल के चीफ ऑपरेशन ऑफिसर सनमुगा प्रियान (Shanmuga Priyan) ने बताया कि छाती में संक्रमण की समस्या के बाद नटराजन को पांच दिन पहले भर्ती कराया गया था. पिछले दो-तीन दिनों से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी.

देश की खातिर कमांडेंट चेतन चीता सीने पर झेल गए 9 गोलियां, 45 दिन कोमा में रहे, अब ड्यूटी पर लौटे
जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के हाजिन क्षेत्र में आतंकियों के साथ एक साल पहले गोलीबारी में बुरी तरह घायल हुए CRPF कमांडेंट चेतना चीता दोबारा ड्यूटी पर लौट आए हैं. चेतन चीता ने CRPF हेडक्वार्टर दिल्ली में ड्यूटी संभाली है.14 फरवरी 2017 को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में CRPF कमांडेंट को 9 गोलियां लगी थीं. 9 गोलियां चेतन चीता के पेट, हाथ, हिप्स, आंख और दिमाग समेत कई अंगों में लगी थीं. वे डेढ़ महीने तक कोमा में रहे थे, जिसके बाद उनको होश आया था. उनका जिंदा बच जाना किसी चमत्कार से कम नहीं है.

राष्ट्रपति आज 43 प्रसिद्ध हस्तियों को देंगे पद्म पुरस्कार
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंगलवार (20 मार्च) को जानेमाने संगीतकार इलैयाराजा, हिंदुत्व विचारक परमेश्वरन परमेश्वरन सहित 41 अन्य प्रसिद्ध हस्तियों को वर्ष 2018 के प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कारों से सम्मानित करेंगे. एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में ये पुरस्कार दिए जाएंगे. कार्यक्रम में उप-राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री और कई अन्य गणमान्य लोग शिरकत करेंगे. सरकार ने इस साल गरीबों की सेवा करने वालों, नि:शुल्क शिक्षा मुहैया कराने वाले स्कूल संचालित करने वालों और वैश्विक स्तर पर जनजातीय कलाकारों को लोकप्रिय बनाने वाली कई हस्तियों को पद्म पुरस्कारों के लिए चुना है.

नहीं रहे समकालीन हिंदी कविता के प्रमुख हस्ताक्षर डॉ. केदारनाथ सिंह
हिन्दी की समकालीन कविता और आलोचना के सशक्त हस्ताक्षर और अज्ञेय के तीसरा सप्तक के प्रमुख कवि डॉ. केदारनाथ सिंह का सोमवार को दिल्ली में निधन हो गया.पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि डॉ. केदारनाथ सिंह को करीब डेढ़ माह पहले कोलकाता में निमोनिया हो गया था. इसके बाद से वह बीमार चल रहे थे. पेट के संक्रमण के चलते उनका सोमवार रात करीब पौने नौ बजे एम्स में निधन हो गया. डॉ. केदारनाथ सिंह 84 वर्ष के थे. उनके परिवार में एक पुत्र और पांच पुत्रियां हैं. मंगलवार 20 मार्च को दोपहर तीन बजे दिल्ली के लोधी रोड श्मशान भूमि में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा. डॉ केदारनाथ सिंह की कविताओं का अंग्रेजी, रूसी, इटैलियन और हंगरी समेत दुनिया की कई भाषाओं में अनुवाद हो चुका है.

कुछ विवादित मुद्दों पर अपना रुख साफ करे MNS, तभी गठबंधन पर होगा विचार: कांग्रेस
महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चह्वाण ने कहा है कि राज ठाकरे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) को पहले कुछ‘‘ विवादित’’ मसलों पर अपना रुख स्पष्ट करना होगा, उसके बाद ही कांग्रेस एमएनएस के साथ किसी तरह के गठजोड़ पर विचार करेगी. चह्वाण का यह बयान राज ठाकरे के उस बयान के एक दिन बाद आया है जिसमें उन्होंने 2019 में ‘‘मोदी मुक्त भारत’’ के लिए विपक्षी एकता की वकालत की थी.

धोनी को ‘बिहारी’ कहकर टांग खिंचाई करते थे युवराज सिंह
लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे युवराज सिंह की टीम में जगह को लेकर भले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर कई बार आरोप लगे हों, लेकिन इस मामले में हमेशा दोनों खिलाड़ियों ने कभी ऐसे संकेत नहीं दिए, जिससे इन दोनेां के बीच तल्खी की बात सामने आई हो. हालांकि युवराज के पिता योगराज ने कई बार धोनी पर आरोप लगाए. लेकिन ये दोनों खिलाड़ी जब भी मैदान पर साथ उतरे तो दोनों ने टीम इंडिया को हमेशा कामयाबी दिलाईं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help