बीजेपी ने संसद में कहा था कि मां सीता तो कभी थीं ही नहीं : कांग्रेस

नई दिल्ली : कांग्रेस पर भगवान राम का अस्तित्व नहीं मानने के भाजपा नेता निर्मला सीतारमण के आरोप पर पलटवार करते हुए पार्टी ने दावा किया कि राम के नाम पर वोट बटोरने वाली भाजपा की सरकार ने संसद के पटल पर तो यह कह दिया कि मां सीता तो कभी थी ही नहीं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार (18 मार्च) को पार्टी महाधिवेशन में भाजपा एवं आरएसएस की तुलना कौरवों और कांग्रेस पार्टी की तुलना पांडवों से की थी.

इस बयान को लेकर हमला बोलते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि कांग्रेस पार्टी अपने आप को पांडवों से जोड़ना चाहती है. यह वही पार्टी है जिसने भगवान राम के बुनियादी वजूद पर ही सवाल खड़ा कर दिया था. रक्षा मंत्री की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया पूछे जाने पर कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि उनकी बातें बेबुनियाद एवं तथ्यों से परे हैं.

उन्होंने कहा कि क्या निर्मला सीतारमण जी यह जानती हैं कि भाजपा एक ऐसा राजनीतिक दल है जिसने देश की संसद के पटल पर यह कह दिया कि मां सीता तो कभी थी ही नहीं. सुरजेवाला ने कहा कि इस देश में क्या कोई यह कल्पना कर सकता है कि जो राम के नाम पर वोट बटोरेंगे और कहेंगे कि मां सीता तो थी ही नहीं. इससे ज्यादा कुत्सित प्रयास क्या हो सकता है.

Randeep Singh Surjewala

@rssurjewala
Coming from the land of Bhagwat Gita, let me say that ‘Lord Krishna’ is the ‘ideology & foundational values’ of the Congress.

Like Gita epitomises Krishna’s way, so does Congress ideology! https://twitter.com/sardesairajdeep/status/975597712677752833 …

1:16 अपराह्न – 19 मार्च 2018 · New Delhi, India
1,000
486 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता
संस्कृति मंत्री ने उठाया था सवाल
उन्होंने 12 अप्रैल, 2017 को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में संस्कृति मंत्री के बयान का हवाला दिया. उन्होंने कहा, ‘मंत्री जी ने कहा कि सीता की जन्मस्थली आस्था का विषय है, जो प्रत्यक्ष प्रमाण पर निर्भर नहीं करता…भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण में अब तक सीतामढी जिला बिहार में कोई खनन नहीं किया है, अत: इसके पास सीतामढी की सीता के जन्मस्थली के रुप में होने से संबंधी कोई ऐतिहासिक प्रमाण नहीं है.’ सुरजेवाला ने कहा कि इस देश के सांस्कृतिक मंत्री यह कहते हैं कि सीता माता हैं नहीं. इससे ज्यादा बड़ा कु-कृत्य मोदी सरकार क्या कर सकती है? वोट बटोरनी हो तो सीता और राम दोनों. जब वोट बटोर कर शासन ले लें तो सीता मां का कोई अस्तित्व नहीं.

उन्होंने रामसेतु विवाद का उल्लेख करते हुए कहा कि जिस रामसेतु के अलायंमेंट को लेकर भाजपा कांग्रेस पर आरोप लगाती रही है, 2000-01 के बजट में उसी की सरकार ने इसी अलायंमेंट के साथ रामसेतु के बारे में निर्णय किया था. उन्होंने इस संदर्भ में 29 फरवरी, 2000 के बजट भाषण का हवाला दिया जिसमें सेतु समुंद्रम पोत नहर परियोजना की विस्तृत व्यवहार्यता एवं पर्यावरण प्रभाव परियोजना के लिए कुल 4.8 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा की गई थी.

क्या कहा राहुल गांधी ने
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना महाभारत के कौरवों से करते हुए कहा कि दोनों संगठन सत्ता के लिए लड़ने के लिए बने हैं. उन्होंने कहा कि सदियों पहले कुरुक्षेत्र में युद्ध हुआ था, जिसमें कौरव शक्तिशाली और अहंकारी थे. जबकि पांडव विनम्र थे, जिन्होंने सच्चाई के लिए युद्ध किया. राहुल गांधी ने कहा कि कौरवों की तरह भाजपा और आरएसएस सत्ता के लिए संग्राम करने को बने हैं, लेकिन कांग्रेस सच्चाई की लड़ाई लड़ती है.

बीजेपी ने किया पलटवार
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कांग्रेसी नेता कोरी बयानबाजी करते हैं. उनके भाषणों, बयानों या फिर आरोपों में कोई आधार नहीं होता है. उन्होंने कहा कि भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस आज खुद को पांडव बता रही है. रक्षा मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा हिंदू धर्म के रीति-रिवाज और अनुष्ठानों का मजाक उड़ाया है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस ने तो भगवान राम के अस्तित्व को ही नकार दिया था. उन्होंने कहा कि चौतरफा हार से घबराकर कांग्रेस को आज कौरव-पांडव याद आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का मंदिरों में जाना भी एक चुनावी स्टंट हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help