मैंने कोई इस्तीफा नहीं दिया, केवल अफवाहों को खबर बनाया जा रहा है : भरत सिंह सोलंकी

अहमदाबाद : गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति (जीपीसीसी) के अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने अपने पद से इस्तीफे की अफवाह को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि मीडिया में अफवाह को ही खबर बनाकर पेश किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उनकी किसी से कोई नाराजगी नहीं है और वे अपने पद पर ही बने हुए हैं.

इस्तीफे की खबरों का बाजार गर्म
सोमवार की शाम से ही इस बात की अटकलें लगाई जा रहीं थी कि हाल के राज्यसभा चुनावों में टिकट नहीं दिए जाने से नाराज सोलंकी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. सोलंकी के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद अफवाहों का ये दौर शुरू हुआ. सोलंकी ने संवाददाताओं से कहा कि इन अफवाहों में कोई सत्यता नहीं है.

Twitter पर छबि देखें
Twitter पर छबि देखें

Bharat Solanki

@BharatSolankee
Met @INCIndia President @RahulGandhi ji in Delhi today along with @paresh_dhanani & Newly elected Rajya Sabha MPs from Gujarat, Naranbhai Rathwa & Amiben Yagnik.

9:25 अपराह्न – 19 मार्च 2018
322
85 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता
2015 से हैं अध्यक्ष
भरत सिंह सोलंकी दिसंबर, 2015 से इस पद पर बने हुए थे. सोलंकी यूपीए-2 की सरकार में पेयजल और स्वच्छता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे और उन्होंने 2004 से 2006 तक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) में सचिव के रूप में भी काम किया था. भरत सिंह सोलंकी तीन बार एमएलए और दो बार लोकसभा सदस्‍य रह चुके हैं.

Twitter पर छबि देखें
Twitter पर छबि देखें

ANI

@ANI
Bharat Solanki met Congress President Rahul Gandhi in the morning and submitted his resignation from the post of Gujarat Pradesh Congress Committee President: Sources

8:55 अपराह्न – 19 मार्च 2018
264
132 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता
यूपीए सरकार में पेयजल एवं साफ-सफाई मंत्रालय, रेलवे और ऊर्जा मंत्रालय में राज्‍यमंत्री रह चुके हैं. 2014 में आणंद से लोकसभा चुनाव हार गए थे. इस बार टिकट बंटवारे से नाराज होकर भरत सिंह ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था.

गुज

भरत सिंह सोलंकी
भरत सिंह सोलंकी के पिता माधव सिंह सोलंकी के 1985 में KHAM फॉर्मूले (क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासी और मुस्लिम वोटबैंक) के आधार पर कांग्रेस ने 149 सीटें जीती थीं. 182 सदस्‍यीय विधानसभा में इस संख्‍या से बड़ी जीत का रिकॉर्ड अभी तक तोड़ा नहीं जा है. अपने पिता के नक्‍शेकदम पर चलते हुए भरत सिंह सोलंकी ने गुजरात चुनावों में KHAP (क्षत्रिय/ओबीसी, हरिजन, आदिवासी और पटेल) फॉर्मूले की रणनीति को अपनाया था. उसी कड़ी में ओबीसी नेता अल्‍पेश ठाकुर को पार्टी में विधिवत शामिल किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help