नुकसान तो सुने होंगे, लेकिन नमक के ये फायदे भी जान लीजिए

नई दिल्ली : भोजन में संतुलित मात्रा में इस्तेमाल किया गया नमक इसे स्वादिष्ट बनाता है. लेकिन नमक ज्यादा होने पर आप इसे खा नहीं पाते. इसी तरह नमक का ज्यादा सेवन आपके शरीर के लिए नुकसानदेह होता है. नमक की एक संयमित मात्रा शरीर में हर समय बनी रहनी चाहिए. नमक की मात्रा ज्यादा या कम होने पर नुकसान भी दे सकती है. वसंत कुंज स्थित इंडियन स्पाइनल इंजरी सेंटर की सीनियर डायटीशियन डॉ. हिमांशी शर्मा बताती हैं कि अधिकतर व्यक्ति दिनभर में 9-12 ग्राम नमक का सेवन करते हैं. युवाओं को दिनभर 5 ग्राम या इससे कम नमक का सेवन करना चाहिए. इतने नमक में करीब 2.5 ग्राम सोडियम होता है. नमक का पानी स्किन को भी कई तरह से फायदा पहुंचाता है. आगे पढ़िए नमक के फायदे के बारे में.

स्किन के लिए फायदेमंद
नमक में मैग्नीशियम, कैल्शियम, सोडियम और ब्रोमाइड पाए जाते हैं. ऐसे में हाथों और पैरों पर नमक के पानी का प्रयोग करने से ये त्चवा के रोम छिद्रों में प्रवेश करते हैं. इससे आपकी स्किन की ऊपरी सतह साफ होती है और स्वस्थ व चमकदार बनती है. इसी तरह यदि आपके हाथ या पैर गंदे हो रहे हों तो भी आप सूखे नमक से रगड़कर इन्हें साफ कर सकते हैं, बशर्तें हाथ व पैर फटे हुए न हों.

आयोडीन की कमी को दूर करें
आयोडीन युक्त नमक का सेवन करने से शरीर में आयोडीन की कमी नहीं होती. आयोडीन की कमी से शरीर की थायराइड ग्रंथि सही से काम नहीं करती. साथ ही आयोडीन नमक शरीर में पाए जाने वाले गुड कोलेस्ट्रॉल को भी बढ़ाता है. आयोडीन की कमी से आपके शरीर में हाइपोथायरायडिज्म जैसी बीमारी हो सकती है.

हेल्दी प्रेग्नेंसी में सहायक
गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी है कि वे खुद की और गर्भ में पल रहे शिशु की देखभाल के लिए हेल्दी डाइट लें. इस समय जरूरी कि आपके शरीर में आयोडीन की पर्याप्त मात्रा बनी रहे. डॉक्टारों की तरफ से भी सलाह दी जाती है कि गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ आहार के साथ ही नमक का भी सेवन करना चाहिए.

बैक्टीरिया को दूर करें
नमक के पानी से नहाने से त्वचा से जहरीले तत्व बाहर निकल जाते हैं. गर्म पानी त्वचा के रोम छिद्रों को खोलता है. इससे मिनरल त्वचा के अंदर गहराई तक जाकर सफाई करते हैं. नमक का पानी जहरीले और नुकसान देने वाले तत्वों और बैक्टीरिया को त्वचा से दूर करता है.

दर्द और ऐंठन से राहत
अगर आपके शरीर और मांसपेशियों में अक्सर ऐंठन और दर्द की शिकायत रहती है तो आपको नमक के पानी से नहाने से आराम मिलेगा. यदि आप ठंडे इलाके में रहते हैं तो आप हफ्ते में दो-तीन बार नमक के पानी से नहा सकते हैं. नमक के पानी से नहाने से गठिया, शुगर या अन्य किसी चोट के कारण होने वाली ऐंठन को भी दूर किया जा सकता है. नमक के पानी के सेवन से मांसपेशियां मुलायम हो जाती हैं.

सूजन में आराम
अगर आपके हाथ या पैर किसी चोट या घाव के कारण सूजन आ जाती है तो गर्म में नमक मिलाकर सिकाई करने से आपको आराम मिलेगा. लेकिन सूजन आने का कोई और कारण है तो आपको इसमें चिकित्सक का परामर्श अवश्य लेना चाहिए.

हड्डियों की बीमारी से बचाव
नमक का पानी हड्डियों की खराबी से संबंधित बीमारी यानी ऑस्टियोआर्थराइटिस और नसों की सूजन यानी टेंडीनिटिस के इलाज में भी कारगर है. नमक का पानी सूजन को कम करता है और आपको दर्द से राहत देता है.

खुजली व अनिद्रा से छुटकारा
नमक के पानी से नहाने से खुजली और अनिद्रा से राहत मिलती है. मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी नमक के पानी से नहाना अच्छा है. इससे नहाने से आप ज्यादा शांत, खुश और आराम महसूस करेंगे. पानी में नमक मिलाकर नहाने से तनाव भी दूर होता है. इससे मूड अच्छा रहता है.

पाचन क्रिया
संयमित मात्रा में पानी में नमक मिलाकर पीना पेट के लिए फायदेमंद रहता है. इससे पेट के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है. यदि आपको या आपके घर में किसी को पाचन संबंधी समस्या है नमक के पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help