बीजेपी को नहीं बदलने देंगे संविधान : राहुल गांधी

चामराजनगर (कर्नाटक): कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को बीजेपी पर संविधान पर‘ हमला’ करने का आरोप लगाते हुए, कानून बदलने के उनके किसी भी प्रयास को विफल करने का संकल्प जताया. चामुंडेश्वरी मंदिर में दर्शन के बाद चुनाव वाले राज्य कर्नाटक में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के जरिए बीजेपी न केवल लोगों का पैसा छीन रही है बल्कि‘‘ वहां एक नया चलन भी है, वे संविधान पर हमला कर रहे हैं.’’

‘बीजेपी को संविधान नहीं बदलने देंगे’
राहुल ने कहा, ‘‘ यहां से सुन लीजिए. हम बीजेपी को संविधान नहीं बदलने देंगे. बीजेपी संविधान को बदलने की जितनी भी कोशिश करे, हम यह सुनिश्चित करेंगे कि कांग्रेस अंबेडकर जी के कार्यों को सुरक्षित रखे.’’ कर्नाटक में चौथे चरण के चुनाव अभियान में अपनी दो दिवसीय यात्रा पर राहुल मांड्या, मैसूर और चामराजनगर जिलों के दौरे पर हैं. इससे पहले राहुल उत्तरी, तटीय और मन्नाड क्षेत्रों का दौरा कर चुके हैं. कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लोगों की नौकरी तथा नोटबंदी संबंधी परेशानियों के प्रति‘ असंवेदनशील’ होने का आरोप भी लगाया.

राहुल ने साधा रविशंकर प्रसाद पर निशाना
इससे पहले शनिवार को राहुल गांधी ने अदालतों में काफी संख्या में मामले लंबित रहने और न्यायाधीशों की कमी को लेकर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पर हमला बोला. राहुल ने केंद्री य मंत्री पर पर ‘‘फर्जी खबरें फैलाने’’ का आरोप लगाया.

राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘ मामले लंबित रहने से न्याय व्यवस्था चरमरा रही है. उच्चतम न्यायालय में 55 हजार से ज्यादा, उच्च न्यायालयों में3 7 लाख से ज्यादा, निचली अदालतों में 2.6 करोड़ से ज्यादा मामले लंबित हैं. फिर भी उच्च न्यायालयों में 400 और निचली अदालतों में 6000 न्यायाधीशों की नियुक्ति नहीं हुई है, जबकि कानून मंत्री फर्जी खबरें फैलाने में व्यस्त हैं.’’

बता दें कांग्रेस और बीजेपी एक- दूसरे पर विवादास्पद डाटा कंपनी की सेवाएं लेने के लिए आरोप लगा रही हैं. प्रसाद ने कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि उसने पिछले चुनावों में विवादास्पद डाटा कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की सेवाएं ली थीं जिस पर राहुल ने शनिवार को पलटवार किया. कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक से डाटा चुराने के आरोप हैं. कांग्रेस ने आरोपों से इनकार किया है और बीजेपी पर आरोप लगाया है कि उसने कंपनी की सेवाएं लीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help