अमेरिका: गन कल्चर के खिलाफ सबसे बड़ा प्रदर्शन, 10 लाख लोगों ने मिलाया हाथ

वॉशिंगटन: बंदूक नियंत्रण के कड़े कानूनों की मांग को लेकर 10 लाख से ज्यादा लोगों ने अमेरिका के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन किए. मार्च का फ्लोरिडा हाई स्कूल के किशोर छात्रों ने नेतृत्व किया, 4 फरवरी को फ्लोरिडा के पार्कलैंड स्थित एक स्कूल में 19 साल के निकोलस क्रूज द्वारा राइफल से 17 लोगों की हत्या किए जाने की घटना के मद्देनजर ‘मार्च फॉर अवर लाइव्स’ रैली का आयोजन किया गया. इस घटना ने बंदूक नियंत्रण पर राष्ट्रीय बहस फिर से शुरू कर दी है क्योंकि बहुत से लोगों ने चिंता जताई कि स्कूलों में गोलीबारी की घटनाएं बड़े पैमाने पर तेज होती जा रही है.

फ्लोरिडा के पार्कलैंड स्थित मारजोरी स्टोनमैन डगलस हाई स्कूल के 17 साल के छात्र कैमरन कास्की ने वाशिंगटन में एक विशाल रैली में भीड़ से कहा, ‘‘ नेता या तो लोगों का प्रतिनिधित्व करें या बाहर चले जाएं. ’’ ‘‘ मार्च फोर आवर लाइव्स’’ के आयोजकों ने कहा कि अटलांटा, बॉस्टन, शिकागो, डेलास, डेनवर, लॉस एंजिलिस, मियामी, मिनियापोलिस, सिएटल और दूसरे शहरों में 800 से ज्यादा प्रदर्शन हुए.

न्यूयार्क के मेयर बिल ड ब्लासियो ने कहा कि शहर में रैली में 1,75,000 लोगों ने हिस्सा लिया. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ ये छात्र अमेरिका को बदल देंगे. ’’ लेकिन सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन वाशिंगटन में हुआ जहां आयोजकों के अनुसार 8,00,000 से ज्यादा लोग जमा हुए थे. 2000 में हुए‘ मिलियन मॉम मार्च’ के बाद से यह अमेरिका बंदूक नियंत्रण को लेकर हुई सबसे बड़ी रैली थी. कास्की ने कहा, ‘‘ ये लोग हमला करने वाले हथियारों पर प्रतिबद्ध लगाने वाले कानून की मांग कर रहे हैं. ’’

बढ़ रही है अमेरिका में गोलीबारी की घटनाएं
बता दें कि फ्लोरिडा हाईस्कूल गोलीबारी की घटना के पीड़ितों ने देश में बंदूक कानूनों को सख्त करने की मांग की थी. और साथ ही मतदाताओं से इस कदम का विरोध करने वाले सांसदों को पद से हटाने का भी आग्रह किया था. ‘सीएनएन’ के अनुसार, फोर्ट लॉडरडेल में शनिवार (17 फरवरी) को एक भावनात्मक रैली में पार्कलैंड के मार्जरी स्टोनमैन डगलस हाईस्कूल (जहां 14 फरवरी को नरसंहार हुआ था) की वरिष्ठ छात्रा एमा गोंजालेज ने मांग की थी कि देश के सांसदों को स्कूलों में गोलीबारी को रोकने के लिए कुछ करना चाहिए था. इस घटना के दौरान एमा ऑडिटोरियम में छुप गई थीं. फेडरल कोर्टहाउस के बाहर एक रैली में एमा ने कहा था कि “हम यह समझ नहीं पाते हैं कि दोस्तों के साथ सप्ताहांत की योजनाओं को बनाना एक स्वचालित या अर्धआधुनिक हथियार खरीदने की तुलना में क्यों कठिन है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help