ऑस्ट्रेलिया ने इज्जत के बाद टेस्ट मैच भी गंवाया, 322 रन से हारी टीम

केपटाउन : ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को शर्मसार करने वाले दिन का अंत दक्षिण अफ्रीका के हाथों तीसरे टेस्ट के चौथे दिन आज 322 रन से मिली शर्मनाक हार के साथ हुआ. मेजबान टीम ने अपने बल्लेबाजों के संयुक्त प्रदर्शन से ऑस्ट्रेलिया के सामने चौथी पारी में 430 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था. लेकिन, अपनी हरकतों से इस पूरे मैच में विवादों से घिरी रही ऑस्ट्रेलिया की टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और चौथे दिन सिर्फ 107 रनों पर ढेर होकर मैच हार गई.

तेज गेंदबाज मोर्नी मोर्कल ने 23 रन देकर पांच विकेट लिए. मोर्केल ने मैच में नौ विकेट अपने नाम किए. उन्होंने पहली पारी में चार विकेट लिए थे. उनके इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया.

दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के सिर्फ तीन बल्लेबाज, डेविड वार्नर (32), कैमरून बेनक्रॉफ्ट (26) और मिशेल मार्श (16) ही दहाई के आंकड़े को छू पाए. तीन बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल पाए.

बेनक्रॉफ्ट और वार्नर ने पहले विकेट के लिए 57 रन जोड़े. इस साझेदारी को डु प्लेसिस ने बेनक्रॉफ्ट को रन आउट कर तोड़ा. दो रन बाद कागिसो रबादा ने वार्नर को आउट किया. इसी स्कोर पर उस्मान ख्वाजा को केशव महाराज ने अपना शिकार बनाया. यहां से विकेटों का पतन जारी रहा और ऑस्ट्रेलियाई टीम मैच हार गई.

सभी दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों का रहा योगदान
इससे पहले, मेजबान टीम ने दिन की शुरुआत पांच विकेट के नुकसान पर 238 रनों के साथ की थी. दक्षिण अफ्रीका ने दिन का पहला विकेट अब्राहम डिविलियर्स (65) के रूप में खोया. उनके जाने के बाद क्विंटन डी कॉक (65) और वार्नोन फिलेंडर (नाबाद 52) ने टीम को को 373 के स्कोर तक पहुंचने में मदद की. डी कॉक ने 97 गेंदों पर आठ चौके और एक छक्का मारा. फिलेंडर ने 79 गेंदों की पारी में छह चौके और एक छक्का लगाया. इन दोनों के अलावा एडिन मार्कराम ने 145 गेंदों में 10 चौके और दो छक्कों की मदद से 84 रनों की पारी खेली.

दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में डीन एल्गर के नाबाद 141 रनों के दम पर 311 रन बनाए थे. ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में सिर्फ 255 रन ही बना सकी थी.

इस मैच को ऑस्ट्रेलियाई टीम द्वारा खड़े किए गए विवादों के कारण याद किया जाएगा. सबसे पहले एक दर्शक द्वारा वार्नर पर टिप्पणी करना और इस विवाद के गहराने ने सुर्खियां बटोरीं तो उसके बाद स्मिथ और बेनक्रॉफ्ट द्वारा गेंद से छेड़खानी के आरोपों को स्वीकार करने से विश्व क्रिकेट में सनसनी फैल गई.

इसी विवाद के कारण क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने स्मिथ और उप-कप्तान डेविड वार्नर को इस मैच के बाकी दिनों से कप्तानी से हटा दिया था. वहीं, आईसीसी ने स्मिथ पर एक टेस्ट मैच का प्रतिबंध और पूरी मैच फीस का जुर्माना और येलो टेप के माध्यम से गेंद से छेड़खानी करने वाले बेनक्रॉफ्ट पर मैच फीस का 75 फीसदी जुर्माना लगा दिया. कार्यवाहक कप्तान टिम पेन ने कहा, ‘‘यह भयावह 24 घंटे रहे. मैं ऑस्ट्रेलियाई टीम के प्रशंसकों से माफी मांगना चाहता हूं.’’

इस जीत के साथ मेजबान टीम ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त ले ली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help