CBSE पेपर लीक मामला: सड़क पर उतरे नाराज छात्र, जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा दो परीक्षाओं को दोबारा करवाने के फैसले से छात्र नाराज हैं. नाराज छात्रों ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए गुरुवार को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया. छात्रों का कहना है कि प्रशासन की गलती के कारण उन्हें दोबारा पेपर देना पड़ेगा. कुछ छात्रों ने यह भी कहा कि अब वह दोबारा एग्जाम नहीं देना चाहते हैं, क्योंकि एक बार पेपर देने के बाद दोबारा देना ना सिर्फ मुश्किल है बल्कि इसका असर नंबरों पर भी पड़ने वाला है.

छात्रों ने कहा, हमें चाहिए न्याय…
जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करते हुए छात्रों ने कहा कि अगर प्रशासन को दोबारा परीक्षाएं करानी ही तो है सभी विषयों की कराई जाए ना की किसी एक खास विषय की. इस दौरान उन्होंने ‘हमें न्याय चाहिए’ के नारे भी लगाए.

दोबारा होगी 12वीं की इकनॉमिक्स और 10वीं की गणित की परीक्षा
12वीं इकनॉमिक्स की परीक्षा 27 मार्च और 10वीं गणित की परीक्षा 28 मार्च को हुई थी. सीबीएसई ने बताया है कि परीक्षा की तारीख की घोषणा एक सप्ताह के भीतर वेबसाइट पर कर दी जाएगी. इस साल 5 मार्च से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं शुरू हुई थीं. इन परीक्षाओं में देशभर से 28 लाख, 24 हजार, 734 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. सीबीएसई के मुताबिक इस साल दसवीं की परीक्षा में 16 लाख, 38 हजार, 428 और बारहवीं की परीक्षा में 11 लाख, 86 हजार, 306 परीक्षार्थी रजिस्टर हुए थे.

सीबीएसई ने दी यह दलील
सीबीएसई ने परीक्षा फिर से लिए जाने के बारे में सर्कुलर जारी कर कहा कि इस बारे में तारीखों और अन्य जानकारी को बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाया जाएगा. इसमें कहा गया, ‘जैसा की खबरों में आया है, कुछ परीक्षाओं के आयोजन में कुछ घटनाओं का बोर्ड ने संज्ञान लिया है. बोर्ड परीक्षाओं की शुचिता और निष्पक्षता को बनाए रखने के लिए और छात्रों के हित में बोर्ड ने उक्त विषयों की दोबारा परीक्षा लेने का फैसला किया है.’ सर्कुलर में कहा गया कि दोबारा ली जाने वाली परीक्षाओं की तारीख की जानकारी हफ्तेभर के भीतर सीबीएसई की वेबसाइट पर डाली जाएगी.

पीएम मोदी ने जाहिर की थी नाराजगी
सीबीएसई कक्षा दसवीं की गणित परीक्षा और कक्षा बारहवीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा आयोजित कराने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नाराजगी जाहिर की थी. इस मामले में मोदी ने मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बातचीत कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help