उत्‍तराखंड : 25 मई को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट, हो रही है बर्फबारी

publiclive.co.in [रंजीत ]

चमोली : सिखों के पवित्र तीर्थ स्‍थल हेमकुंड साहिब के कपाट इस साल श्रद्धालुओं के लिए 25 मई को खुलेंगे. शासन प्रशासन ने इसकी तैयारी कर ली है. 4500 मीटर की उंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब और लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट खुलने की तैयारी पूरी हो गई है. प्रशासन के मुताबिक हेमकुंड साहिब में अभी भी जबरदस्त बर्फ है. वहीं हेमकुंड साहिब के मार्ग पर 3 किलोमीटर तक जबरदस्त ग्‍लेशियर है. श्री हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा ट्रस्ट के ट्रस्टी और अल्पसंख्यक आयोग उत्तराखंड के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह जीत बिंद्रा के अनुसार 22 मई को केंद्रीय राज्य मंत्री सरदार दरदीप सिंह पुरी के साथ-साथ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक और विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल द्वारा पहले जत्थे को ऋषिकेश से रवाना किया जाएगा.

हालांकि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए भारतीय सेना के जवानों दारा ग्लेशियर को काटकर मार्ग बना दिया गया है. अब हेमकुंड साहिब तक का मार्ग खुल गया है लेकिन पहाड़ों में मौसम बदलते ही हेमकुंड साहिब में बर्फबारी हो रही है. रोजाना मौसम इस कदर बदल रहा है कि दोपहर के बाद यहां जमकर बर्फबारी हो रही है. इस कारण इस वर्ष मार्ग खोलने में जवानों के साथ स्थानीय लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

वहीं 25 मई से हेमकुंड साहिब की यात्रा शुरू हो रही है और ऐसे में हेमकुंड साहिब में रोजाना बर्फबारी से यात्रा पर असर पड़ सकता है. क्योंकि इतनी ऊंचाई पर जबरदस्त ठंड और बर्फबारी के साथ ही ऑक्सीजन की कमी भी श्रद्धालुओं के लिए हेमकुंड साहिब की यात्रा में परेशानी उत्‍पन्‍न कर सकते हैं. 25 मई से हेमकुंड साहिब की कड़ी चढ़ाई पर वाहे गुरु के जयकारों से गूंज उठेगी. देश भर और विदेशों से सिख श्रद्धालु यहां अपने दसवें गुरु गोबिंद सिंह तपस्थली में माथा टेकने पहुंचने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help