राशिद खान से डरे सौरव गांगुली, कहा- टर्निंग पिच बनाना होगा खतरनाक

publiclive.co.in[Edited by विजय दुबे]

नई दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने जून में होने वाले भारत और अफगानिस्तान के बीच होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच के बारे में अपनी राय दी है. सौरव का मानना है कि इस मैच में राशिद खान की भूमिका अहम होगी. सौरव ने हाल ही में खत्म हुए आईपीएल के सीजन 11 में हैदराबाद के टीम की ओर से खेलने वाले राशिद खान के शानदार प्रदर्शन की तारीफ की.

सौरव ने कहा, “राशिद वकई अच्छे स्पिनर हैं. वास्तव में जब भारत अपने ही घर में अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच खेलेगा, तब उसे यह तय करने में दिक्कत हो सकती है कि उनके खिलाफ कैसी पिच तैयार की जाए. परंपरागत रूप से भारतीय टर्निंग पिच तैयार करना पसंद करते हैं. लेकिन अफगानिस्तान टीम में राशिद खान और मुजीब उर रहमान खतरनाक साबित हो सकते हैं.”

उल्लेखनीय है कि साल 2018 के आईपीएल में हैदराबाद के राशिद खान सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाले गेंदबाज रहे. सीजन में सबसे ज्यादा डॉट गेंद डालने वाले राशिद खान ने 6.73 की ईकोनोमी और 21.80 के एवरेज से कुल 21 विकेट लिए और पर्पल कैप की दौड़ में पंजाब के एंड्रयू टाय के बाद दूसरे स्थान पर रहे. राशिद खान इस आईपीएल में एक खौफ बनते दिखाई दिए. इसका सबसे बड़ा उदाहरण क्वालिफायर 2 में कोलकाता के खिलाफ वह ओवर रहा जिसमें उन्होंने आंद्रे रसल को आउट किया था और रसल अपना आक्रमक खेल नहीं दिखा पाए थे. राशिद खान ने फाइनल में भी पारी का 15वां ओवर मेडन डाला था.

हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने राशिद के बारे में कहा, “वह एक वर्ल्ड क्लास खिलाड़ी है. यह हमने इस प्रारूप में देखा है लेकिन वह टेस्ट मैच भी खेलने जा रहा है यह देखना शानदार है. यह हर एक के लिए चुनौती होता है लेकिन यह काफी मजेदार चुनौती है क्योंकि वह स्पिनर्स के खेल में ही खेलेगा. विलियमसन को उम्मीद है कि आगे वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में राशिद के खिलाफ बल्लेबाजी करने को काफी उत्सुक हैं. उन्होंने राशिद को लेग स्पिन का संपूर्ण पैकेज बताया. विलियमसन ने बताया कि राशिद के साथ नेट पर अभ्यास करना एक सुखद अनुभव रहा. उसका हमारी टीम में होना बेहतरीन रहा. उसका यह साल काफी शानदार रहा.”

शानदार रही विलियमसन की कप्तानी
हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने इस सीजन में हैदराबाद के लिए शानदार कप्तानी की. बॉल टेम्परिंग विवाद की वजह से हैदराबाद की कप्तानी ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर को छोड़नी पड़ी. इसके बाद जिम्मेदारी केन विलियमसन को सौंपी गई और उन्हें इस शानदार अंदाज में टीम को लीड किया कि लोग वार्नर को भूल ही गए. विलियमसन ने इस सीजन में सबसे ज्यादा 735 रन बनाए और ऑरेंज कैप भी हासिल की. इनमें से ज्यादातर पारियां कप्तानी पारियां थी. इसके साथ ही विलियमसन ने इस सीजन में सबसे ज्यादा 8 अर्धशतक भी शामिल रहे.

पूरे आईपीएल में हैदराबाद की टीम अपने विराधी टीमों पर हावी रही केवल चेन्नई की टीम को छोड़ कर. इस आईपीएल में दोनों ही टीमों के बीच चार मैच हुए, और चारों में ही हैदराबाद को हार का सामना करना पड़ा. हालाकि इनमें से तीन मैच तो काफी नजदीकी भी रहे. लेकिन फाइनल मैच में शेन वाटसन ने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी कर मैच और टूर्नामेंट को चेन्नई के पक्ष में कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help