EVM से लोकतंत्र को खतरा, बैलेट पेपर से हो चुनाव- अखिलेश यादव

publiclive.co.in {Edited By रवि यादव}

लखनऊ: कैराना और नूरपुर उपचुनाव के दौरान EVM और VVPAT मशीनों में खराबी की बहुत ज्यादा शिकायतें आई थीं. इसको लेकर आज समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि EVM और VVPAT मशीनों में खराबी की बहुत ज्यादा शिकायतें आईं. अखिलेश ने मशीनों में खराबी को लेकर गंभीर सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग का कहना है कि गर्मी की वजह से मशीनें ठीक तरीके से काम नहीं कर रही थी. लेकिन, मेरा सवाल है कि केवल उन पोलिंग बूथों पर EVM मशीन काम नहीं कर रही थी जहां गठबंधन के वोट थे. 28 मई को कैराना और नूरपुर के अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों में उपचुनाव हुए, लेकिन कहीं से भी मशीनों में खराबी की शिकायत नहीं आई.

रणनीति के तहत मशीन खराब की गई
इन आरोपों के साथ अखिलेश यादव ने कहा कि हमें शक है कि एक रणनीति के तहत उन पोलिंग बूथों के मशीन खराब की गई जहां गठबंधन का जनाधार बहुत मजबूत था. लेकिन, बीजेपी की यह रणनीति काम नहीं आने वाली है, क्योंकि बड़ी संख्या में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है और हमारी जीत जरूर होगी. अखिलेश यादव ने दूसरे राजनीतिक दलों से भी अपील की कि वे EVM मशीन की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग करें.ANI UP

@ANINewsUP

There were complaints regarding EVMs in various areas. We demand voting through ballot paper in all upcoming elections. Voting through ballot will strengthen democracy. I also hope that people will be given a chance to vote again in areas where EVMs were faulty: Akhilesh Yadav

सैकड़ों VVPAT मशीनों में खराबी
मतदान खत्म होने के बाद आयोग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक कैराना सीट पर इस्तेमाल की गई 1705 VVPAT मशीनों में से गड़बड़ी की शिकायतों के चलते 355 VVPAT (20.82 प्रतिशत) बदलनी पड़ीं. शिकायतों के बाद सपा, कांग्रेस और रालोद के संयुक्त प्रतिनिधिमंडलों ने निर्वाचन आयोग के समक्ष इस मामले को उठाते हुये डेढ़ घंटे से अधिक बाधित रहने वाले मतदान केन्द्रों पर फिर से मतदान कराने और इससे कम समय तक मतदान बाधित रहने वाले मतदान केन्द्रों पर मतदान का समय बढ़ाने की मांग की थी. बाद में बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने भी आयोग से VVPAT मशीनों में गड़बड़ी की शिकायत करते हुए जरूरी कार्रवाई करने की मांग की थी. आयोग के अनुसार उत्तर प्रदेश की नूरपुर विधानसभा सीट पर भी इस्तेमाल की गई 351 वीवीपेट मशीनों में से 29 मशीनें (8.26 प्रतिशत) बदलनी पड़ीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help