गौरी लंकेश हत्‍याकांड : एसआईटी ने कोर्ट में दाखिल की 650 पन्‍नों की चार्जशीट..

publiclive.co.in [ Edited By रवि यादव ]

नई दिल्‍ली : कन्नड़ की वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्‍या के मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बुधवार को संबंधित अदालत में 650 पन्‍नों की चार्जशीट दाखिल की. इसमें 131 लोगों के बयान भी शामिल हैं, जिनमें फोरेंसिक साइंस लैब के अधिकारियों समेत आरोपी केटी नवीन और प्रवीण का भी बयान है.

उल्‍लेखनीय है कि पिछले वर्ष सितंबर माह में कन्नड़ की वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की अज्ञात हमलावरों ने उनके निवास पर गोली मारकर हत्या कर दी थी. पुलिस के अनुसार, गौरी को रात लगभग 8.30 बजे उस समय बिल्कुल करीब से गोली मारी गई, जब वह राजराजेश्वरी नगर में अपने घर के दरवाजे पर खड़ी थीं.” प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, गौरी के माथे पर तीन गोलियां दागी गईं और उनकी तत्काल मौत हो गई.

गौरी लोकप्रिय कन्नड़ टेबलॉयड ‘लंकेश पत्रिका’ की संपादक थीं. नवंबर, 2016 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के खिलाफ एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिस कारण उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया गया. इस मामले में उन्हें छह माह जेल की सजा हुई थी.

उनकी हत्‍या के विरोध में पूरे कर्नाटक समेत देशभर में कई स्‍थानों पर विरोध-प्रदर्शन हुए थे. विरोध प्रदर्शन कर रही भीड़ में पत्रकार, कार्यकर्ता, लेखक, चिंतक और महिला संगठनों के कार्यकर्ता शामिल हुए थे. यहां तक की अमेरिकी दूतावास ने भी वरिष्ठ कन्नड़ पत्रकार-सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या की निंदा की थी.

गौरी की हत्‍या को लेकर देशभर में हुए व्‍यापक विरोध-प्रदर्शन के बाद उनकी हत्या की जांच के लिए एक विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया. केस की जांच के लिए पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया गया.”

वहीं, बाद में गोवा स्थित सनातन संस्था ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या में अपने कार्यकर्ताओं के शामिल होने का खंडन करते हुए इसे झूठी खबर बताया था. संस्था के प्रवक्ता चेतन राजहंस ने एक बयान में यहां कहा, “कुछ मीडिया घरानों की ओर से सनातन संस्था के कार्यकर्ताओं की गौरी लंकेश की हत्या में शामिल होने की झूठी खबर फैलाई जा रही है.” उन्होंने दावा किया कि ऐसी खबरें सनातन और हिंदू विरोधी तत्व फैला रहे हैं. यह मामले को भटकाने की साजिश है.

इस मामले में 9 मार्च 2018 को ही एसआईटी ने एक 37 वर्षीय युवक को गिरफ्तार किया था. विशेष जांच दल(एसआईटी) अधिकारी एम.एन. अनुचेत ने बताया, “एसआईटी ने गौरी लंकेश की हत्या के आरोपी नवीन कुमार को गिरफ्तार किया गया.” कुमार को 2 मार्च को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था. इससे पहले 19 फरवरी को अपराध शाखा ने उसके खिलाफ अवैध रूप से रिवॉल्वर के 15 बुलेट रखने के आरोप में मामला दर्ज किया था. पुलिस ने कहा, “आरोपी बेंगलुरू से 250 किलोमीटर दूर चिकमंगलुर जिले के बिरुर शहर का निवासी है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help