टी-20 क्रिकेट के ‘शहजादे’ टेस्ट क्रिकेट में ‘सब्र के इम्तिहान’ के लिए हैं तैयार

publiclive.co.in[Edited by विजय दुबे]

देहरादून: ताबड़तोड़ क्रिकेट के शहजादे अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान भारत के खिलाफ अपने देश के पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में ‘‘सब्र के इम्तिहान’’ के लिए तैयार हैं. अफगानिस्तान का यह ऐतिहासिक पहला टेस्ट 14 जून से बेंगलुरु में रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज भारतीय टीम से होगा जिसके लिए 19 साल के राशिद खान पूरी तरह तैयार हैं. राशिद खान ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट एकदिवसीय और टी-20 खेलने से बहुत ज्याद अलग नहीं है. मुझे चार दिवसीय मैचों में जब भी मौका मिला मैंने अच्छा प्रदर्शन किया. अगर मैं टेस्ट मैच के बारे में सोच कर अपनी गेंदबाजी में बदलाव करूंगा तो यह मेरे लिए सही नहीं होगा. मैं उसी रफ्तार से गेंदबाजी करूंगा जिससे अब तक करता रहा हूं. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यह सुनिश्चित करना होगा कि मैं सब्र रखूं. मुझे पता है ऐसा भी समय होगा जब मुझे 20 ओवर तक कोई विकेट नहीं मिलेगा. और ऐसा भी हो सकता है कि मुझे दो ओवर में दो विकेट मिल जाए. यही टेस्ट क्रिकेट है.’’ उन्होंने ने कहा, ‘‘यह सब्र का इम्तिहान होगा. इस बात की भी संभावना है कि मुझे विकेट ही नहीं मिले.’’

राशिद पिछले एक साल से अपने देश नहीं गए है और हाल ही में उन्होंने आतंकवादी हमले में अपने एक दोस्त को खोया है. वह अपने देश के लोगों के लिए मैदान में सही सोच के साथ उतरना चाहते हैं.

‘एक साल से घर नहीं गया हूं’
उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक साल से घर नहीं गया हूं. मुझे अपने परिवार और दोस्तों की काफी कमी महसूस होती है. वहां धमाके की खबरों से मुझे काफी दुख होता है. आईपीएल के दौरान भी मेरे गृहनगर में धमाका हुआ. मैंने उसमें अपने एक दोस्त को खो दिया. मैं काफी दूखी हूं. ’’

‘तेंदुलकर से सराहना मिलना सपना सच होने की तरह’
आईपीएल क्वालीफायर में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ 10 गेंद में 34 रन की पारी खेलने वाले इस खिलाड़ी से जब हरफनमौला खेल में निखार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने कभी यह नहीं सोचा था कि इतने कम समय में इतना कुछ हासिल करूंगा. यह सपने की तरह है.’’ उन्होंने कहा कि भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर से सराहना मिलना सपना सच होने की तरह है. तेंदुलकर ने राशिद को मौजूदा समय का सर्वश्रेष्ठ टी-20 गेंदबाज करार दिया था.

राशिद खान ने कहा, ‘‘सचिन का ट्वीट सपने की तरह था. मैं घंटों तक इस बारे में सोचता रहा कि उन्हें क्या जवाब दूं. मैं काफी खुश था. विराट और धोनी ने भी आईपीएल के दौरान मेरी तारीफ की. इससे आपका मनोबल बढ़ता है.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help