Exclusive : IPL सट्टेबाजी में बड़ा खुलासा, 60 ट्रक भर पैसा ठिकाने लगाने की हुई बात

publiclive.co.in[Edited by विजय दुबे ]

नई दिल्ली : भारत में आईपीएल सट्टेबाजी का मामला गहराता जा रहा है. सबसे पहले अल जजीरा के वीडियों में भारतीय क्रिकेटरों का नाम लेने की बात आई ही थी कि मुंबई पुलिस के हाथ लगे एक बुकी सोनू जालान ने सट्टेबाजी में अरबाज खान का नाम ले लिया. इसके बाद पूछताछ में अरबाज खान ने भी सट्टेबाजी में पैसा लगाने की बात कबूली. इसके बाद अरबाज के अलावा कई और बॉलीवुड हस्तियों के नाम भी सामने आए. हाल ही में ज़ी न्यूज़ के हाथ मे क्रिकेट की सट्टेबाज़ी से जुड़ा एक एक्सक्लुसिव वीडियो हाथ लगा है.

इस वीडियो में सट्टेबाज़ी में अलग मुकाम रखने वाला सोनु जालान किसी से फोन पर बात कर रहा है. सोनू जालान पिछले दिनों ही महाराष्ट्र पुलिस ने गिरफ्तार किया था जो अंडरवर्ल्ड सरगना दाउद इब्राहिम के संपर्क में रहता था. उसी ने पूछताछ के दौरान अरबाज खान का नाम सामने आया और पूछताछ में अरबाज ने आईपीएल में सट्टेबाजी की बात कबूल भी की. मामले की और भी गहराई से जांच चल रही है.

इस वीडियो में सोनु जालान किसी से फोन पर बात कर रहा है जिसमें वो बार बार एक ओर बड़े सट्टेबाज़ जूनियर कोलकात का नाम ले रहा है. इसके साथ ही वो सट्टेबाज़ी में इस्तेमाल होने वाले पैसे की बंदरबाट पर भी बात कर रहा है. सोनू साफ बोल रहा है कि 60 ट्रक भरकर पैसा है, सबमें बांट दो. ठाणे पुलिस के हाथों ये वीडियो तब लगे जब वो सोनू जालान के मोबाइल और लैपटॉप को खंगाल रही थी.

सोनू के पुलिस के हाथ लगने के बाद ही भारतीय क्रिकेट में सट्टेबाजी के गहरी जड़ों का पता लगा. जांच और पूछताछ में पता चला है कि सोनू जालान, दाऊद इब्राहिम के खास और देश में कई बुकियों के नेटवर्क के सरगना जूनियर कोलकाता के सीधे संपर्क में था. उसकी मीटिंग क्रिकेट के लोगों से कराने की जिम्मेदारी सोनू की ही थी. सोनू के मोबाइल से ही कुछ तस्वीरें और जानकारी मिली है कि जूनियर कोलकाता के साथ रॉबिन मौरिस साल 2015 में 14 सितंबर को थाईलैंड में मिले थे. इनके मिलने के पीछे क्या कारण था. इसकी तलाश पुलिस कर रही है.

आईपीएल से 500 करोड़ का हुआ था कलेक्शन
सोनू के घर से ठाणे पुलिस ने एक डायरी बरामद की जिसके मुताबिक IPL के साल 2018 सीजन से सोनू का बैटिंग कलेक्शन तकरीबन 500 करोड़ का था. इसमें से अकेले फाइनल मैच का कलेक्शन तकरीबन 10 करोड रुपए थे. इस डायरी में देश विदेश के तकरीबन 30 बड़े बुकीज के नाम कोडवर्ड में लिखे पाए गए. सोनू सट्टे बाजार में होने वाली कमाई को हवाला के रास्ते मुंबई से दुबई और दुबई से कराची में अपने आकाओं तक पहुंचाता था. ठाणे पुलिस फिलहाल इस हवाला नेटवर्क को उजागर करने की कोशिश में जुटी है.

दुबई से भी जुड़े हैं सोनू के तार
बताया जा रहा है कि सोनू दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में कारोबार देखने वाले दो खास गुर्गे एहतशाम और डॉक्टर के साथ सीधे संपर्क में था. भारत, पाकिस्तान, दुबई और खाड़ी देशों में सट्टे बाजार का पूरा कलेक्शन डॉक्टर और एहतेशाम के पास जाता था और ये दोनों अनीस इब्राहिम और शकील को रिपोर्ट किया करते थे.इसके अलावा सोनू मालाड दुबई में दाऊद के बेहद करीबी रईस सिद्दीकी और अनिल कोठारी उर्फ अनिल टुंडा के साथ भी लगातार संपर्क में था. रईस और अनिल दोनों दुबई में डी कंपनी के लिए सट्टा ऑपरेट करते हैं. इनकी आपस में दुबई में कई बार मीटिंग भी हो चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help