सलमान को उनके घर की बालकनी में मारने की थी प्लानिंग, STF की गिरफ्त में बिश्नोई गैंग का शार्प शूटर

publiclive.co.in[Edited by विजय दुबे ]
नई दिल्ली: अभिनेता सलमान खान को जान से मारने की साजिश का पर्दाफाश हुआ है और इसका खुलासा बिश्नोई गैंग के शार्प शूटर संपत नेहरा ने पुलिस की पूछताछ में किया है. सजिश को सफल बनाने के लिए नेहरा ने सलमान के घर की रेकी भी की थी. हरियाणा पुलिस की एसटीएफ बीते 6 जून को हैदराबाद से संपत नेहरा को गिरफ्तार किया. संपत नेहरा पर 2 लाख का इनाम है और वह बिश्नोई गैंग से ताल्लुक रखता है. एसटीएफ 11 जून को ट्रांजिट रिमांड पर नेहरा को हैदराबाद से लेकर हरियाणा पहुंचेगी. उल्लेखनीय है कि राजस्थान के गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने बीते 6 जनवरी को खुलेआम सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी थी. सलमान के लिए बिश्नोई की मौत की धमकी 1998 के काले हिरण हत्या मामले से जुड़ी हुई है, जिसमें सलमान खान दोषी हैं.

हरियाणा एसटीएफ नेहरा को हैदराबाद की अदालत में पेश कर 5 दिन की रिमांड पर लाई है. एसटीएफ ने बुधवार (6 जून) को गिरफ्तार कर हैदराबाद में केस दर्ज कराया. टीम ने अगले दिन 7 जून को वहीं की अदालत में आरोपी संपत नेहरा को पेश किया और फिर रिमांड पर ले लिया. संपत पर कुल एक लाख का इनाम घोषित है, जिसमें से पंचकूला में 50 हजार और राजस्थान में भी इतनी ही राशि का इनाम है. नेहरा पर हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, फिरौती सहित दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं. कहा जाता है कि नेहरा ने छात्र राजनीति के जरिए अपराध की दुनिया में कदम रखा और लॉरेंस बिश्नोई की गैंग में शामिल हुआ.

लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के शार्प शूटर संपत नेहरा ने एसटीएफ को बताया कि उसने सलमान को उनके घर के बालकनी में मारने की योजना बनाई थी. इसके लिए उसने दो दिन तक सलमान के घर की रेकी भी की. नेहरा ने बताया, ‘सलमान आमतौर पर दिन में बिना सुरक्षा के अपने प्रशंसकों से मिलने बालकनी में आते थे. जहां उन्हें आसानी से वहीं मारा जा सकता था. नेहरा ने बताया कि इसके लिए उसने बालकनी और प्रशंसकों के बीच दूरी का अंदाजा भी लगाया था, सही हथियार का इंतजाम किया जा सके.

नेहरा ने इस बात का भी खुलासा किया है कि वह दूसरे मुल्कों में फोन करके रुपए मंगवाता था, जहां से हवाला के जरिए उसे पैसे मिल जाते थे. उसने यह बात भी कबूली की जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई भी पैसे में उसकी मदद करता था. लॉरेंस बिश्नोई ने संपत नेहरा को पांच विदेशी नंबर दिए हुए थे, उसी नंबर से हवाला नेटवर्क के माध्यम से रुपए मंगवाए जाते थे.

हरियाणा एसटीएफ के डीआईजी बी. सतीश बालन ने बताया कि संपत को फिटनेट का बेहदज शौक है और इसलिए वह रोज जिम जाता था. हैदराबाद में नेहरा के कमरे में रहने वाले तेलंगाना के युवकों ने बताया कि संपत नेहरा कम बोलता था और ज्यादातर वक्त फोन के साथ व्यस्त रहता था. नेहरा सोशल मीडिया पर भी काफी समय गुजारता था. संपत नेहरा के पिता हरियाणा पुलिस से एएसआई के पद से सेवानिवृत्त हैं. उससा छोटा भाई फौज में है और एक बहन की शादी हो चुकी है. डीआईजी ने बताया कि अब नेहरा का अपने परिवार से कोई रिश्ता नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help