टेस्ट मैच जीतने के बाद अजिंक्य रहाणे ने अफगान खिलाड़ियों को दी यह सलाह

publiclive.co.in[Edited by रंजीत]
बेंगलुरू : अफगानिस्तान को पहले टेस्ट मैच में ही पारी और 262 रनों से करारी हार देने के बाद भारतीय टीम के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने जीत का श्रेय अपने बल्लेबाजों को दिया है. भारत ने अफगानिस्तान को एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए मैच के दूसरे दिन शुक्रवार (15 जून) को ही मात दे दी. मेहमान टीम ने अपनी दोनों पारियां दूसरे दिन ही खेलीं. उसने अपनी पहली पारी में 109 रन बनाए तो वहीं दूसरी पारी में 103 रन ही बना पाई. भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे का मानना है कि अफगानिस्तान को पांच दिवसीय प्रारूप की तैयारी के लिए अभ्यास के दौरान टेस्ट मैच के हालात सोचकर खेलना होगा.

अजिंक्य रहाणे ने कहा, ‘‘अफगानिस्तान के लिए यह शुरुआत है. उनकी गेंदबाजी इतनी धारदार है कि वे किसी भी टीम की धज्जियां उड़ा सकते हैं. अभी वे सीख रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे जितना ज्यादा खेलेंगे, उतना ही सीखेंगे. यह उनके लिये शुरूआत भर है. आप उनको दोष नहीं दे सकते. उन्होंने अपनी ओर से पूरी कोशिश की. पहली पारी के बाद वे विकेट पर टिकने की कोशिश कर रहे थे लेकिन यह आगाज भर है.’’

रहाणे ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट रवैये और सब्र का इम्तिहान है. यदि इनके दो-तीन खिलाड़ी लंबे समय तक टिक गए तो किसी भी टेस्ट टीम को हरा सकते हैं.’’ रहाणे ने मैच के बाद पूरी अफगानिस्तान टीम को फोटो के लिए बुलाया और विरोधी कप्तान असगर स्टेनिकजाई को विजेता की ट्रॉफी थामने की भी पेशकश की.

उन्होंने कहा, ‘‘हार और जीत खेल का हिस्सा है. आपका रवैया हमेशा जीत का होना चाहिये लेकिन मैदान पर आप एक दूसरे का सम्मान करना भी सीखते हैं. मैंने अफगानिस्तान के खिलाफ खेलकर बहुत कुछ सीखा.’’

रहाणे ने कहा, हमारी बल्लेबाजी शानदार थी
मैच के बाद रहाणे ने पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, “हम जिस तरह से खेले, खासकर हमारे बल्लेबाज, शिखर, विजय, राहुल और पांड्या वो काबिलेतारीफ है. हमने अफगानिस्तान को हल्के में नहीं लिया. हमारे लिए यह जरूरी है कि हम अपने बुनियादी खेल और अच्छी आदतों को बनाए रखें.” शिखर धवन ने 107, मुरली विजय ने 105, लोकेश राहुल ने 54 और हार्दिक पांड्या ने 71 रन बनाए थे.

रहाणे ने अफगान गेंदबाजों की तारीफ की
रहाणे ने अफगानिस्तान के तेज गेंदबाजों, यामिन अहमदजाई और वफादार की तारीफ की. उन्होंने कहा, “उनके तेज गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की. खासकर कल (पहले दिन) के तीसरे सत्र में. मुझे लगता है कि वह आगे चल कर सफल होंगे.”

‘मैन ऑफ द मैच’ चुने गए धवन ने कहा, “मैं अफगानिस्तान को इस टेस्ट मैच और ईद के लिए बधाई तथा शुभकामनाएं देता हूं. यह हमेशा सीखने की प्रक्रिया है. एक बार जब वह जीतना शुरू कर देंगे तो उनमें आत्मविश्वास आ जाएगा. यह उनके देश के लिए बड़ी बात है. मैं दर्शकों का इस मैच के लिए आने के लिए शुक्रिया अदा करता हूं.”

अपनी बल्लेबाजी से खुश हूं: शिखर धवन
अपनी बल्लेबाजी पर इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा, “मैंने जिस तरह से बल्लेबाजी की उससे मैं काफी खुश हूं. मैच जल्दी खत्म होना अच्छी बात है. हमें अब कुछ दिनों की छुट्टी मिल गई.” धवन ने कहा, “आयरलैंड जाने से पहले हम तरोताजा रहेंगे. गेंद स्विंग ले रही थी, लेकिन मेरी सोच साफ थी और चीजें मेरी तरह से ही हुईं. भगवान की कृपा से मैंने एक ही सत्र में शतक लगाया. यह शानदार अनुभव था.”

कप्तान असगर स्टानिकजाई हुए निराश
अफगानिस्तान के कप्तान असगर स्टानिकजाई ने दो दिन में ही मैच खत्म हो जाने पर निराशा जताई और कहा कि टीम के बल्लेबाजों ने खराब प्रदर्शन किया. स्टानिकजाई ने कहा, “हम इस बात से हैरान हैं कि मैच दो दिन में ही खत्म हो गया क्योंकि हमारी टीम अच्छी है. टीम की बल्लेबाजी से निराशा है, लेकिन हमारे भविष्य के लिए अच्छी बात है. हमें हमारी कमजोरियों पर काम करना होगा. दोनों टीमों का समर्थन करने के लिए प्रशंसकों का शुक्रिया.” उन्होंने कहा, “हमने पहले टेस्ट मैच नहीं खेला था और अब हम सीख रहे हैं कि हमें भविष्य में कैसे खेलना है.”

अफगानिस्तान के लिए चुनौती काफी कठिन है : सिमंस
अफगानिस्तान के कोच फिल सिमंस ने कहा कि टीम को मजबूत टेस्ट देश बनने से पहले लंबा सफर तय करना है. सिमंस ने भारत के हाथों पहले टेस्ट में दो दिन के भीतर ही मिली हार के बाद यह बयान दिया. उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि इस टीम में अच्छी टेस्ट टीम बनने का माद्दा है लेकिन यह काम पहाड़ चढने जैसा है.’’

स्टार स्पिनर राशिद खान और मुजीब जदरान पहले दिन जूझते नजर आए लेकिन आखिरी सत्र में वापसी की. सिमंस ने कहा ,‘‘पहले दो सत्र में हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके लेकिन बाद में उन्होंने लय में वापसी की. वैसे मुझे नहीं लगता कि वे अपने प्रदर्शन से खुश होंगे.’’ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान को भारत, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के खिलाफ काफी ए सीरीज खेलनी होगी ताकि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का अंतर कम किया जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help