कश्मीर में आतंकी हमले के लिए 10 आतंकियों का ग्रुप घुसपैठ के लिए लांचिग पैड पर मौजूद’

publiclive.co.in[Edited by RANJEET]
नई दिल्लीः खुफिया एजेंसियों ने सरकार को भेजी अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि जम्मू कश्मीर में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के नजदीक 10 आतंकियों की मूवमेंट देखी गई है. ऐसा बताया जा रहा है कि ये सभी आतंकी कश्मीर में बड़े हमले की फिराक में है और इसके लिए वो भारत में घुसपैठ का इंतजार कर रहे हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि घुसपैठ की फिराक में छिपे ये आतंकी लश्कर और जैश के हैं. खुफिया एजेंसियों की इस रिपोर्ट के बाद से लाइन ऑफ कंट्रोल पर सुरक्षा बलों को अलर्ट रहने को कहा गया है यही नहीं अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में लगे ITBP CRPF आर्मी और जम्मू-कश्मीर पुलिस से भी कड़ी निगरानी रखने को कहा गया है.

बता दें कि बाबा अमरनाथ दर्शन के लिए इस साल काफी ज्यादा संख्या में रहे हैं अब तक सिर्फ बालटाल के रास्ते से सेज्यादा श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ के दर्शन कर लिए हैं

लाईन आफ कंट्रोल के नजदीक आतंकियों का जमावड़ा
रिपोर्ट के मुताबिक लाइन ऑफ कंट्रोल के नजदीक केल ,आठमुकाम ,दूधनियाल और लीपा वैली के लांचिग पैड पर आतंकी मौजूद हैं सभी आतंकी लश्कर-ए-तोएबा और जैश-ए-मोहम्मद तंजीम से हैं

अमरनाथ यात्रा पर खतरा
देखा जाए तो आतंकी संगठन अमरनाथ यात्रा पर निशाना बनाने की साजिश में लगे हुए हैं कुछ दिनों पहले अमरनाथ के रास्ते में पड़ने वाले कंगन नाम की जगह पर आतंकी हमले की साजिश का पता चला था और अब एक बार फिर से अमरनाथ यात्रा पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी चूरसू और संगम के बीच में नेशनल हाइवे पर अमरनाथ यात्रियों को निशाना बना सकते हैं.

भारतीय नौसेना के बेस पर हमले की साजिश
सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक भारत पर बड़े आतंकी हमले ना कर पाने से ऐसा ही बौखलाई हुई है और ऐसे में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों से कश्मीर में घुसपैठ कर सुरक्षा बलों पर हमले करने का ISI लगातार दबाव बनाए हुए हैं यही नहीं खुफिया एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के बहावलपुर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को ISI की मदद से भारतीय नौसेना के बेस पर आतंकी हमले की ट्रेनिंग दी जा रही है जैश ए मोहम्मद के आतंकियों को गहरे पानी में गोताखोरी से लेकर के हथियार चलाने की ट्रेनिंग मिल रही है ताकि वह पठानकोट जैसा एक और बड़े हमले को अंजाम दे सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help