RBI ‘ग्रेड बी’ परीक्षा 2018 : छूटे अभ्‍यर्थियों के लिए अलग से होगा एग्‍जाम, यहां जानें ब्‍योरा

publiclive.co.in[Edited RANJEET]
नई दिल्ली : केरल में आई बाढ़ के कारण भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ‘ग्रेड बी’ अधिकारी पद के लिए प्रतियोगी परीक्षा नहीं दे पाने वाले प्रतिभागियों के लिए बैंक दो सितंबर को केरल के विभिन्न केन्द्रों पर परीक्षा आयोजित करेगा. यह परीक्षा 16 अगस्त को आयोजित की गई थी. विशेष रूप से पिछले हफ्ते भारी बारिश की वजह से बाढ़ और भूस्खलन के कारण केरल को भारी बर्बादी का सामना करना पड़ा है.

केरल के विभिन्‍न केंद्रों पर होगी परीक्षा
रिजर्व बैंक ने कहा, “आरबीआई सर्विसेज बोर्ड 2 सितंबर, 2018 को केरल के विभिन्न केंद्रों में उन प्रतिभागी उम्मीदवारों के फायदे के लिए ग्रेड-बी अधिकारियों की भर्ती हेतु चरण-1 / पेपर-1 परीक्षा आयोजित करेगा, जो 16 अगस्त, 2018 को परीक्षा नहीं दे पाए थे.” रिजर्व बैंक ने कहा कि जो लोग परीक्षा दे चुके हैं उन्हें फिर से भाग लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

आरबीआई जारी करेगा नए प्रवेश पत्र
आरबीआई दो सितंबर की परीक्षा में उपस्थित होने जा रहे उम्मीदवारों के लिए नए प्रवेश पत्र जारी करेगा. प्रवेश पत्र 25 अगस्त से बैंक की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है. इसी प्रकार, इस भर्ती के लिए चरण-2 / पेपर- II और III परीक्षा, जिसे 6-7 सितंबर के लिए निर्धारित किया गया था, अब 1-16 सितंबर को आयोजित होगा. केरल में परीक्षा पूरी होने के कुछ ही दिन बाद 16 अगस्त को पेपर-I के लिए उपस्थित प्रतिभागियों सहित सभी उम्मीदवारों के परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे.

पानी उतरने के बाद भी नहीं कम हुईं मुसीबतें
केरल में बारिश में कमी और बाढ़ का पानी उतरने के बावजूद राज्य की मुसीबतें कम नहीं हुई हैं. बाढ़ और भूस्खलन से 8 अगस्त के बाद से राज्य में 230 लोगों की मौत हुई है. राज्य में फिलहाल राहत शिविरों में रह रहे 13 लाख लोगों के सामने अनिश्चय की स्थिति है और उन्हें अपना भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है. अपनी आंखों में आंसू लिए एक बुजुर्ग महिला ने कहा, “सबकुछ खत्म हो गया है. हम बर्बाद हो गए हैं.” कई घर अब भी जलमग्न हैं और जो नहीं है उनमें हर कुछ टूटा-फूटा और बिखरा हुआ पड़ा है. देश के सबसे दक्षिणी छोर पर स्थित इस राज्य में बाढ़ की त्रासदी ने 231 लोगों की जान ली है और बड़े पैमाने पर धनहानि पहुंचायी है.

कचरा प्रबंधन, ऑर्गेनिक कृषि और जल संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में काम करने वाला हरित केरल मिशन भी इस सफाई प्रक्रिया में सहायता करेगा. मिशन कल से राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में 50 पम्प सेट लगाएगा. अधिकारियों ने बताया कि राज्य की ओर से तैनात कर्मचारियों के अलावा 50,000 स्वयं सेवक भी मकानों और सार्वजनिक जगहों पर जमा बाढ़ का कचरा साफ करने में मदद करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help