INDvsENG: जेम्स एंडरसन बनेंगे दुनिया के सबसे सफल पेसर, 7 विकेट हैं दूर

publiclive.co.in [EDITED BY SIDDHATH SINGH]
साउथम्प्टन: टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे की टेस्ट सीरीज रोमांचक दौर में पहुंच गई है. इस सीरीज में 0-2 से पिछड़ी टीम इंडिया की नॉटिंघम टेस्ट में वापसी की हर तरफ तारीफ हो रही है. इस सीरीज में वैसे तो तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड की गेंदबाजी में वह प्रभाव नहीं रहा लेकिन उसके दिग्गज तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का प्रदर्शन भी प्रभावी ही रहा. पूरी सीरीज के दौरान जेम्‍स एंडरसन ने धार और रफ्तार से भारतीय बल्लेबाज़ों को खूब परेशान किया

लॉर्ड्स टेस्‍ट में एंडरसन ने नौ विकेट लेकर भारतीय टीम कमर तोड़ते हुए इंग्लैंड को जीत दिलाने में विजयी भूमिका निभाई और भारत के खिलाफ अपने 100 विकेट तो पूरे किए ही, लॉर्ड्स में भी अपने सौ विकेट पूरे किए. अब वे दुनिया के इकलौते ऐसे तेज गेंदबाज हैं जिसने एक ही मैदान पर 100 से ज्यादा विकेट लिए हैं.

चौथे टेस्ट में होगा मौका
साउथम्प्टन में गुरूवार से शुरू होने वाले चौथे टेस्ट मैच में एंडरसन के पास इतिहास रचने का मौका होगा, इस मैच में वे सात विकेट लेकर टेस्‍ट क्रिकेट में सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज़ बन सकते हैं. फिलहाल यह रिकॉर्ड ग्लेन मैक्ग्रा के नाम है. मैक्ग्रा भी कह चुके हैं कि एंडरसन को पीछे छोड़ना आसन नहीं होगा.
भारतीय टीम बर्मिंघम में खेला गए पहले टेस्ट में 31 रन से हार गई थी. इसके बाद लॉर्ड्स टेस्ट में उसे एक पारी और 159 रन से हार का सामना करना पड़ा जिसमें उसकी बल्लेबाजी की कड़ी आलोचना हुई. फिर टीम इंडिया ने नॉटिंघम में इंग्लैंड को 203 रन से हराकर सीरीज में शानदार वापसी की. इस सीरीज में इंग्लैंड की टीम अब उतनी मजबूत नहीं मानी जा रही है. कहा यह भी जा रहा है कि अब सीरीज को बराबरी की हो गई है. नॉटिंघम टेस्ट में इंग्लैंड के शीर्ष क्रम की कमजोरी सामने आई, वहीं टीम इंडिया के गेंदबाजों ने इस मैच में शानदार गेंदबाजी की और दूसरी पारी में तीन बार वापसी करते हुए भारत की जीत सुनिश्चित की थी.

ऐसा है टीम इंडिया का साउथम्पटन में इतिहास
टीम इंडिया अब अगले मैच में साउथम्पटन के मैदान पर सीरीज का चौथा टेस्ट मैच इंग्लैंड के साथ खेलेगी. यहां के रोज बाउल मैदान पर अब तक केवल दो ही टेस्ट मैच हुए हैं जिनमें से एक मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है और दूसरा ड्रॉ हुआ था. एक मैच इंग्लैंड का टीम इंडिया के साथ साल 2014 में ही हुआ था. यह उस सीरीज का तीसरा मैच था. इस मैच में टीम इंडिया 266 रनों से हारी थी. इस मैदान पर पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच जून 2011 में हुआ था. जो ड्रॉ हुआ था. इस मैदान पर पहली पारी का औसत 376 रन, दूसरी पारी का औसत 353, तीसरी पारी का औसत 269 रन और चौथी पारी का औसत 178 रन है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help