सोशल मीडिया पर मर्यादा बनाएं रखें, इसका इस्तेमाल गंदगी फैलाने के लिये न करें: PM मोदी

publiclive.co.in.[EDITED BY SIDDHARTH SINGH]

नई दिल्‍ली: सोशल मीडिया पर कई बार लोगों के मर्यादा की सीमा पार कर जाने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में सभी का कर्तव्य है कि वे इस प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म का इस्तेमाल गंदगी फैलाने के लिये नहीं करने का संकल्प लें. वाराणसी में पार्टी के विभिन्न विभागों के कार्यकर्ताओं के साथ नरेंद्र मोदी एप के माध्यम से संवाद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ सोशल मीडिया पर कभी कभी लोग मर्यादाएं भूल जाते हैं. किसी भी झूठी बात को सुना और उसे शेयर कर देते हैं.’’ उन्होंने कहा कि कई बार तो उसे सुनते भी नहीं हैं. कई लोग ऐसे ऐसे शब्दों का प्रयोग करते हैं जो सभ्य समाज में अस्वीकार्य है, शोभा नहीं देता है. महिलाओं के खिलाफ भी ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है.

संकल्‍प का आह्वान
मोदी ने कहा, ‘‘यह किसी राजनीतिक दल की बात नहीं है. यह सवा सौ करोड़ लोगों का विषय है. ऐसे में हम संकल्प लें कि इस सोशल प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म का उपयोग कभी भी गंदगी फैलाने के लिये नहीं करेंगे.’’ उन्होंने कहा कि स्वछता अभियान दिमागी स्वच्छता से भी जुड़ा है. उन्होंने कहा, ‘मोहल्ले में तू-तू मैं-मैं हर देश में होती होगी. पहले कभी गांव में किसी को भनक तक नहीं लगती थी. मैं तो कभी-कभी हैरान हो जाता हूं कि आज दो पड़ोसियों की लड़ाई को भी सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया जाता है और वह नेशनल न्यूज बन जाती है.’

अच्छी एवं सकारात्मक खबरों के महत्व को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि कोशिश होनी चाहिए कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल सकारात्मक चीजों के लिए किया जाए. ‘‘ हमारे पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने कहा था कि देश में सकारात्मक खबरों का माहौल तैयार किया जाना चाहिए.’’ उन्होंने कहा कि नकारात्मक खबरों से लोगों में निराशा का भाव उत्पन्न होता है. जब प्रकाश फैलेगा तब निराशा के लिये कोई जगह नहीं होगी.

बदलते भारत की तस्‍वीर शेयर करें
पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे बदलते भारत की तस्वीर लोगों को दिखाने के लिये मोबाइल से छोटे-छोटे वीडियो तैयार करें और उसे सोशल मीडिया पर शेयर करें. उन्होंने जोर दिया कि आज भारत के हर गांव में बिजली है, भारत सबसे अधिक तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है, देश सबसे तेजी से बढ़ने वाला विमानन बाजार और सबसे बड़ा मोबाइल फोन विनिर्माता बन गया है, ऐसे में हमारे पास भी कुछ है जो लोगों को गौरवान्वित कर सकता है.

उन्होंने ‘टीम काशी’ के समन्वय पर जोर दिया. उन्होंने लगातार तीसरे दिन एप के जरिये वाराणसी में पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद किया. वाराणसी में विकास कार्यों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सड़क, रेलवे और हवाई अड्डे से लेकर और भी विकास वाराणसी में दिख रहा है. उन्होंने वाराणसी के विकास के लिए प्रतिबद्धता दोहराई.

प्रधानमंत्री ने स्थानीय लोगों से कहा कि 21 से 23 जनवरी 2019 तक आयोजित होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान वे वहां आने वाले लोगों को भारतीय संस्कृति का दर्शन कराने की दिशा में कार्य करें. मोदी ने 15 सितंबर से 2 अक्तूबर तक महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर आयोजित स्वच्छता ही सेवा अभियान में लोगों से हिस्सा लेने को कहा.

काशी को सजाने-संवारने के दिए टिप्स
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा के मंडल कार्यकर्ताओं से ‘‘नरेंद्र मोदी एप’’ के जरिये वीडियो कॉन्फ़्रेसिंग से संवाद किया और काशी को सजाने संवारने के तरीके बताये. इस दौरान प्रधानमंत्री ने क्षेत्रीय कार्यालय गुलाब बाग, जिला कार्यालय कंचनपुर और महानगर कार्यालय नीचीबाग के कार्यकर्ताओं से वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये सीधा संवाद किया.

प्रधानमंत्री ने मंडल कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से कहा कि 21 से 23 जनवरी तक बनारस में होने वाला प्रवासी भारतीय सम्मेलन भाजपा का नहीं, काशीवासियों का होना चाहिए. साथ ही उन्होंने शहर को सजाने संवारने के टिप्स दिये.

पीएम मोदी से संवाद करने वाले रविदास मंडल अध्यक्ष दीपक राय के अनुसार उन्होंने इस दौरान कहा कि मुद्रा बैंकिंग से बहुत सारे लोगों को लाभ तो हुआ है लेकिन अब भी गरीब व्यवसायी सूदखोरों के चंगुल में फंसे हैं. इस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता ऐसे लोगों से संपर्क करें और उन्हें मुद्रा बैंक से जोड़ने का काम करें. प्रवासी भारतीय दिवस के आयोजन की तैयारी पर प्रधानमंत्री ने कहा कि शहर को साफ सुथरा करने का अभियान चलाया जाये.

कैंट मंडल के महामंत्री मधुप सिंह ने प्रधानमंत्री से जानना चाहा कि भाजपा कार्यकर्ता किस तरह सरकार की उपलब्धियां जनता को बताएं. इस पर मोदी ने कहा कि जनता तक सरकार की उपलब्धियां पहुंचाने के लिए कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जाये. कार्यकर्ता सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने में कारगर कड़ी हैं. सरकार के कार्यक्रम तभी सफल होंगे जब कार्यकर्ता जनता के बीच रहकर अपने दायित्वों को सही ढंग से निभाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help