ऑस्ट्रेलिया 9 महीने में पहला टेस्ट जीता; कप्तान पेन ने लॉयन नहीं, इस खिलाड़ी को दिया श्रेय

publ;iclive.co.in[Edited by Ranjeet]
बॉल टैम्परिंग मामले के बाद जीत के सूखे से गुजर रही ऑस्ट्रेलियाई टीम अंतत: विजयपथ पर लौट आई. उसने मंगलवार (18 दिसंबर) पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट में भारत को 146 रन से करारी शिकस्त दी. ऑस्ट्रेलियाई टीम की यह नौ महीने में पहली टेस्ट जीत है. उसने इससे पहले आखिरी टेस्ट जीत पांच मार्च को जीता था. तब उसने दक्षिण अफ्रीका को डरबन टेस्ट में 118 रन से हराया था. ऑस्ट्रेलिया ने डरबन टेस्ट और पर्थ टेस्ट के बीच छह टेस्ट मैच खेले. इनमें से पांच में उसे हार का सामना करना पड़ा था, जबकि एक मैच ड्रॉ रहा था.

ऑस्ट्रेलिया ने इस जीत के साथ ही भारत से जारी मौजूदा टेस्ट सीरीज (India vs Australia) में 1-1 से बराबरी कर ली है. सीरीज का पहला टेस्ट भारत ने जीता था. अब दोनों टीमें 26 दिसंबर से तीसरा टेस्ट मैच खेलेंगी. इस मैच से पहले मयंक अग्रवाल और हार्दिक पांड्या टीम इंडिया से जुड़ जाएंगे.

ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ (Ball Tampering) मामले के बाद अपने तत्कालीन कप्तान स्टीवन स्मिथ, उप कप्तान डेविड वार्नर और ओपनर कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर प्रतिबंध लगा दिया था. इसके बाद टिम पेन को कप्तान बनाया गया था. टिम पेन बॉल टैम्परिंग मामले के बाद पहली टेस्ट जीत दर्ज करने पर राहत महसूस कर रहे हैं. उन्होंने पर्थ में मैच के बाद कहा, ‘फिलहाल यह राहत की बात है. पहली टेस्ट जीत में कुछ समय लग गया.’ उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों और स्टाफ पर काफी गर्व है. यह मुश्किल टेस्ट था, दोनों टेस्ट कड़े थे. दो काफी प्रतिस्पर्धी टीमें जिनके पास अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है.’

हैरिस-फिंच की जोड़ी ने पैदा किया अंतर
टिम पेन ने कहा कि मार्कस हैरिस और एरॉन फिंच के बीच पहली पारी में पहले विकेट की शतकीय साझेदारी ने काफी अंतर पैदा किया. हैरिस और फिंच ने पहले विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की थी. टिम पेन ने इस बारे में कहा, ‘पहले दिन मार्कस और एरॉन ने हमें बिना विकेट गंवाए 100 रन तक पहुंचाया. यह शानदार प्रदर्शन था और संभवत: इसने अंत में अंतर पैदा किया.’

ख्वाजा से अगले मैच में शतक की उम्मीद
उस्मान ख्वाजा ने पहली पारी में विफल रहने के बाद दूसरी पारी में 72 रन की उम्दा पारी खेली. टिम पेन ने उम्मीद जताई कि यह स्टार बल्लेबाज बाकी मैचों में शतक जड़ने में सफल रहेगा. टिम पेन ने मैच में आठ विकेट चटकाने वाले आफ स्पिनर नाथन लॉयन की भी तारीफ की.

सूखे का क्रम तोड़ना अच्छा रहा: लॉयन
मैन ऑफ द मैच नाथन लॉयन भी ऑस्ट्रेलिया की जीत में भूमिका निभाकर काफी खुश हैं. उन्होंने पर्थ में मैच के बाद कहा, ‘जीत में भूमिका निभाना बेहतरीन है, पिछले कुछ समय से नहीं कर पाया था. यह कहना उचित होगा कि हम सूखे से गुजर रहे थे. इसलिए इस क्रम को तोड़ना अच्छा रहा. निचले क्रम को जल्द समेटना खास था.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help