पिछले माह कोहली ने कहा था अब टी-20 नहीं खेलना चाहते धोनी, फिर क्यों हुई वापसी?

publiclive.co.in[Edited by Ranjeet]
नई दिल्ली: न्यूजीलैंड दौरे पर खेली जाने वाली टी-20 सीरीज के लिए पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की भारतीय टी-20 टीम में वापसी हुई है. ऑस्ट्रेलिया में भारत को वनडे सीरीज खेलनी है. टीम इसके बाद न्यूजीलैंड दौरे पर जाएगी. महेंद्र सिंह धोनी ने फरवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए भारतीय टी20 टीम में वापसी की जबकि युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत को वनडे टीम से बाहर कर दिया गया. धोनी की वापसी हैरानी का सबब रही क्योंकि उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले महीने ही टी20 टीम से बाहर कर दिया गया था. चयनकर्ताओं ने उस समय यह तर्क दिया था कि उन्हें दूसरे विकेटकीपर की तलाश है. धोनी की वापसी इस मायने में भी हैरान करने वाली है.

पिछले माह नवंबर में जब टी-20 टीम में उन्हें जगह नहीं मिली थी तब कप्तान विराट कोहली ने बताया कि धोनी अब टी-20 फॉर्मेट में नहीं खेलना चाहते. इतना ही नहीं, कोहली ने यह भी दावा किया था को धोनी चाहते हैं ऋषभ पंत को और ज्यादा मौका दिया जाए. इन बयानों का आधार माना जाए तो धोनी का चयन कई सवाल खड़े करता है. धोनी की वापसी इस बात का संकेत है कि वह टीम मैनेजमेंट की नजर में विश्वकप के एकादश खिलाड़ियों के राडार में शामिल नहीं हैं.

बीसीसीआई ने चयन को सही ठहराया
धोनी के चयन को लेकर पूछे गए सवाल पर सिलेक्शन कमेटी के संयोजक अमिताभ चौधरी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. हालांकि, इस घटनाक्रम से जुड़े बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “अब सिर्फ आठ वनडे मैच खेले जाने हैं तो चयनकर्ता धोनी को विश्व कप से पहले पूरा समय देना चाहते हैं. तीन टी20 का मतलब है कि अगले एक महीने में वह 11 मैच खेल सकेंगे.”

पंत भारत लौटकर इंडिया ए से खेलेंगे
उधर, पंत जल्द ही भारत लौटेंगे और 23 जनवरी से इंग्लैंड लॉयन के खिलाफ पांच वनडे मैच खेलेंगे. सवाल यह है कि क्या 2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में ऋषभ को मौका मिलेगा. केदार जाधव और हार्दिक पंड्या की वापसी हो गई है. केदार जाधव ऑफ ब्रेक बॉलर हैं. ऐसे में टीम मैनेजमेंट के लिए ऋषभ को प्लेइंग इलेवन में जगह दे पाना तब तक संभव नहीं हो पाएगा जब तक कोई खिलाड़ी चोटिल न हो जाए. दिनेश कार्तिक और केएल राहुल पहले से ही टीम में धोनी के चोटिल होने की स्थिति में जगह लेने के मौजूद हैं.

विश्वकप 2019 से पहले प्रयोग का दौर जारी
विश्वकप में पांच माह का वक्त बचा है. विश्वकप से पहले भारतीय टीम बमुश्किल से अब 13 वनडे खेल सकेगी. कोच रवि शास्त्री कह चुके हैं कि अब वनडे में प्रयोग नहीं किया जाएगा लेकिन धोनी का चयन इसके जारी रहने का संकेत देता है. भारतीय टीम फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज खेल रही है. उसे वहां 12 जनवरी से तीन वनडे मैच खेलने हैं. इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज खेली जाएगी. पांच वनडे मैचों की सीरीज 23 जनवरी से और तीन टी20 मैचों की सीरीज छह फरवरी से शुरू होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help