मुंबई की जीत में ऐसे चमके हार्दिक, धोनी के धुरंधरों की एक नहीं चली

Publiclive.co.in[Edited by Aadil khan] आईपीएल के सीजन 12 के 15वें मुकाबले में मुंबई और चेन्नई के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद थी. मैच में मुकाबला तो तगड़ा हुआ, लेकिन बाजी हर मामले में मुंबई ने ही मारी और चेन्नई की एक न चलने दी. यहां तक कि एमएस धोनी भी कुछ खास कमाल नहीं कर सके. वहीं मुंबई के लिए कीरोन पोलार्ड, लसिथ मलिंगा के अलावा हार्दिक पांड्या ने शानदार खेल दिखाया. पांड्या ने पहले बल्ले से शानदार पारी खेली और गेंद से चेन्नई के तीन विकेट भी चटखाये.

कांटे का मुकाबला हुआ नहीं
इस मैच में फैंस मुंबई के गेंदबाजों और चेन्नई के बल्लेबाजों के बीच कांटे की टक्कर देखने की उम्मीद थी, लेकिन उन्हें थोड़ी निराशा जरूर मिली होगी. मजा तो तब ही ज्यादा आता जब मुंबई पहले गेंदबाजी करती और चेन्नई पहले बल्लेबाजी लेकिन धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया. अपने पहले तीन मैचों में से दो मैच हारने के बाद रोहित शर्मा के पास मौका था कि वे इस मैच को जीतकर टीम में नया जोश भर देते, उनके खिलाड़ियों ने उन्हें निराश नहीं किया.

धीमी ही शुरूआत रही मुंबई की
पहले लग रहा था कि चेन्नई मुंबई पर हावी हो जाएगी. 9वें ओवर में पहले 50 रन बनने तक रोहित शर्मा, क्विंटन डि कॉक और युवराज सिंह पवेलियन वापस भी चले गए. सूर्यकुमार यादव और क्रुणाल पांड्या ने टीम को 100 के पार पहुंचाया तो लेकिन तब तक 16वां ओवर चल रहा था. 18वें ओवर तक ये दोनों टीम का स्कोर 125 रन तक पहुंचाकर पवेलियन वापस भी चले गए थे.

पांड्या-पोलार्ड ने बनाया सम्मानजनक स्कोर
यहां से हार्दिक पांड्या और कीरोन पोलार्ड ने ताबड़तोड़ शॉट्स लगाने शुरू किए और मुंबई का स्कोर 20 ओवर के खत्म होने तक 170 तक पहुंचाकर सबको हैरान कर दिया. पोलार्ड ने 7 गेंदों पर दो छक्कों की मदद से 17 रनों की पारी खेली, लेकिन हार्दिक ने 8 गेंदों पर 25 रन ठोक डाले. हार्दिक ने तीन छक्के और एक चौका लगाया. शार्दुल ठाकुर ने 19वें ओवर में 15 रन और ड्वेन ब्रावो के ओवर में 29 रन निकले.
चेन्नई की खराब शुरुआत
अब चेन्नई को 170 रनों के लक्ष्य का पीछा करना था जो कि मुश्किल नहीं तो आसान भी नहीं था. पहले ही ओवर में बेहरनडॉर्फ ने अंबाती रायडू को और दूसरे ओवर में लसिथ मलिंगा ने शेन वाटसन को पवेलियन वापस भेज कर चेन्नई को झटका दे दिया. रैना और जाधव ने तेजी से खेलना शुरू ही किया था कि बेहरनडॉर्फ ने रैना को पोलार्ड के हाथों लपकवा कर मैच में रोमांच ला दिया.

धोनी भी नहीं चले,हार्दिक ने किया उन्हें चलता
धोनी और जाधव की पारी में वह गति नहीं थी, लेकिन मैदान पर धोनी का होना ही दर्शकों के लिए काफी था, धोनी अपनी फितरत के मुताबिक शुरू में तो धीमे खेले, लेकिन इससे पहले कि वे गति पकड़ते, 15वें ओवर में हार्दिक ने धोनी को आउट कर चेन्नई की मुश्किलें बढ़ा दीं. उस समय चेन्नई को 36 गेंदों पर 84 रनों की दरकार थी. इसी ओवर में हार्दिक ने रवींद्र जडेजा को भी आउट कर दिया.

जाधव की फिफ्टी भी काम न आई
दूसरे छोर पर केदार जाधव अकेले किला लड़ाते दिखे. 17 ओवर तक चेन्नई को 18 गेंदों पर 63 रनों की जरूरत थी. 18वें ओवर में मलिंगा ने पहले केदार जाधव (58) और फिर ड्वेन ब्रावो को आउट कर चेन्नई की जीत को लगभग नामुमकिन कर दिया. अंतिम ओवर में हार्दिक ने दीपक चहर को आउट कर अपना तीसरा विकेट भी लिया और शार्दुल ठाकुर की छोटी आतिशी पारी के बाद चेन्नई 37 रनों से हार गई और मुंबई को टीम की 100वीं जीत मिल गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help