रोहित शर्मा ने छक्के मार कर की ऐसी वापसी, बन गए चेन्नई के खिलाफ जीत के हीरो

publiclive.co.in[Edited by Arti singh]
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में जब चेन्नई और मुंबई के मुकाबले से पहले पता चला कि चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी इस मैच में नहीं खेलेंगे, तभी लगने लगा था कि टीम के लिए इस मैच को जीतना बहुत ही मुश्किल होने वाला है. इस मैच में मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा के पास एक बार फिर अपना खोया हुआ फॉर्म वापस हासिल करने का मौका था. रोहित ने चेन्नई की मुश्किल पिच पर शानदार वापसी की और अपनी टीम की जीत के हीरो भी बन गए.

टॉस जीतकर चेन्नई के कप्तान सुरेश रैना के पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. रोहित ने पहली ही गेंद पर चौका लगा कर टीम को बढ़िया शुरूआत देने का संकेत तो किया, लेकिन उसके बाद वे धीमी पड़ गए. मुंबई के लिए क्विंटन डि कॉक ने अपने अंदाज में तेज शुरुआत की लेकिन वे अपना विकेट जल्दी ही गंवा बैठे. डि कॉक एक चौका और एक छक्का लगाकर केवल 9 गेदों पर ही 15 रन बनाकर आउट हो गए.

रोहित ने पहले पांचवें ओवर में दूसरा चौका मारा. 7वें ओवर तक मुंबई का स्कोर 50 के पार हो सका. इसके बाद हरभजन सिंह के ओवर में रोहित ने अपने हाथ खोले और अपनी पारी का पहला छक्का लगाया. इससे पहले हरभजन ने पावर प्ले में रोहित के साथ ही क्विटन डि कॉक और इवान लुइस को भी बांध कर रखा था. लेकिन रोहित ने उसकी अगली गेंद पर एक और छक्का लगा डाला.

यहां से एक बार फिर रोहित धीमें पड़ गए. 13वें ओवर में 100 रन होने से पहले लुइस आउट हुए. और रोहित ने इसके साथ ही अपने पचास रन पूरे किए. यह रोहित का इस सीजन की पहली हाफ सेंचुरी पूरी की. इसके बाद रोहित ने एक बार फिर 16वें ओवर में जाकर अपने हाथ खोले और इमरान ताहिर को दो चौके और एक शानदार छकका लगा डाला.

17वें ओवर में रोहित मिचेल सेंटनर की गेंद पर 67 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए. उन्होंने 48 गेदों की पारी में छहा चौके और तीन छक्के लगाए. तब तक 16.2 ओवर में टीम का स्कोर 4 विकेट के नुकसान पर 122 रन हो चुका था. इसके बाद पोलार्ड और हार्दिक पांड्या ने अंतिम ओवरों में बेहतरीन शॉट्स लगाए और टीम का स्कोर 150 से पार करते हुए चेन्नई को 156 रनों का लक्ष्य दिया.

156 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की टीम बुरी तरह बिखर गई. कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल सका और पूरी टीम 17.4 ओवर में ही 109 रन बनाकर ही आउट हो गई. इस तरह से मुंबई ने चेन्नई पर 46 रनों की बड़ी जीत दर्ज करते हुए अपना नेट रेट भी सुधार लिया. मुंबई के लिए पोलार्ड ने 13 और हार्दिक पांड्या ने 23 रनों की पारी खेली. इवान लुईस ने भी शानदार 32 रन बनाए. रोहित को उनकी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया.

इस मैच में धोनी के अलावा फाफ डु प्लेसिस, रवींद्र जडेजा भी टीम में इस मैच में नहीं थे. टीम की बल्लेबाजी पूरी तरह से गैर जिम्मेदाराना रही. टीम के लिए मुरली विजय (38) ड्वेन ब्रावो (20) और मिचेल सैंटनर (22) के अलावा कोई भी बल्लेबाज दहाई के आंकड़े को छू नहीं सका. यह हार चेन्नई के लिए एक बड़ा झटका साबित हुआ और 8 मैच जीतने के बाद भी टीम का नेट रेट नेगेटिव हो गया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help