पाकिस्‍तान ने की एक ऐसी घोषणा, फायदे में रहेंगी भारतीय कंपनियां

publiclivenews.in[Edited by DIVYA SACHAN]
पाकिस्तान ने सभी सिविल एविएशन ट्रैफिक के लिए अपना एयरस्पेस को मंगलवार सुबह खोल दिया. पाकिस्तान के इस निर्णय के बाद अब इंडियन प्लेन पाकिस्तान के वायु क्षेत्र से होकर जा सकेंगे. इससे भारतीय एयरलाइन को काफी फायदा होगा, अभी तक भारतीय विमानों को काफी घूमकर सफर तय करना पड़ता था. लेकिन अब यूरोप के कई देशों तक पहुंचने का रास्ता पहले के मुकाबले काफी छोटा हो जाएगा. आपको बता दें फरवरी में बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की तरफ से भारतीय विमानों के लिए एयर स्पेस बंद कर दिया गया था.

विमानों को घूमकर जाना पड़ता था
पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने सोमवार रात 12.41 बजे नोटिस जारी कर हवाई क्षेत्र खोलने के बारे में जानकारी दी. नोटिस में पाक के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र तत्काल प्रभाव से भारत के सभी यात्री विमानों के लिए खोला जाता है. पाकिस्तान काफी महत्वपूर्ण एविएशन कॉरिडोर के बीच में आता है. ऐसे में पश्चिम की ओर जाने वाले कई विमानों को इसी रास्ते से होकर जाना पड़ता है. इससे सैकड़ों की संख्या में यात्री और मालवाहक विमान पाकिस्तान के ऊपर से गुजरते हैं.

विमानन कंपनियों का बढ़ गया था खर्च
पाकिस्तान की तरफ से एयर स्पेस बंद करने से विमानों को यूरोपीय देशों के लिए काफी घूमकर जाना पड़ता था. इससे कंपनियों का तेल खर्च काफी बढ़ गया था. वहीं विमानों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में समय भी ज्यादा लगता था. गौरतलब है कि विमानों को उड़ने की अनुमति देने के बदले में पाकिस्तान को प्रति उड़ान औसतन 500 डॉलर मिलते थे लेकिन एयरस्पेस बंद होने से पाकिस्तान की कमाई भी प्रभावित हो रही थी|

एयर इंडिया को 491 करोड़ का नुकसान
पाकिस्तान का एयरस्पेस बंद होने से 2 जुलाई तक एयर इंडिया को 491 करोड़ का नुकसान हुआ था. दरअसल भारत से अमेरिका और यूरोप जाने वाली एयर इंडिया व अन्य विमानन कंपनियों की उड़ानों को पाकिस्तान के ऊपर से जाना पड़ता है. लेकिन अनुमति न मिलने से विमानन कंपनियों को काफी घूम कर जाना पड़ता है. देश की निजी विमानन कंपनियों इंडिगो, स्पाइसजेट और गो एयर को भी वायु क्षेत्र बंद होने से लगभग 60 करोड़ का नुकसान हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help