माइकल वान ने एशेज प्लेयर्स को किया सलाम, सीरीज को बताया सबसे बड़ा स्पोर्टिंग टेस्ट

publiclivenews.in[Edited by DIVYA SACHAN]
क्रिकेट के दुनिया की सबसे मशहूर टेस्ट सीरीज एशेज ( Ashes 2019) का आगाज गुरुवार एक अगस्त से शुरु हो गया है. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाला यह महामुकाबला इसबार इंग्लैंड में हो रहा है. इस सीरीज को लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल ने दोनों ही टीमों के खिलाड़ियों को बर्मिंघम के ऐजबेस्टन मैदान पर शुरू हो रहे पहले टेस्ट के लिए शुभकामनाएं दी हैं. पिछले महीने ही इंग्लैंड में हुए आईसीसी विश्व कप जीतने से इंग्लैंड में काफी उत्साह है. वान ने इस सीरीज को ‘सबसे बड़ा स्पोर्टिंग टेस्ट’ बताया है.

एशेज के साथ ही टेस्ट चैंपियनशिप की भी शुरुआत
इसी के साथ आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत भी हो रही है. टेस्ट चैंपियनशिप के आने से खेल के लंबे प्रारुप में निश्चित तौर पर रोमांच बढ़ेगा. इस चैंपियनशिप का अंत जुलाई 2021 में होगा जिसकी विजेता एक टीम होगी. वान के मुताबिक यह सीरीज क्रिकेटर के व्यक्तित्व का हर स्तर पर इम्तिहान लेती है.

क्या कहा वान ने
वान ने अपने ट्वीट में कहा, “22 लकी खिलाड़ियों को गुडलक जो आज एजबेस्टन में खेलेंगे. किसी भी खिलाड़ी के लिए एशेज सबसे बड़ा स्पोर्टिंग टेस्ट है. सात हफ्तों तक ये आपकी पर्सनालिटी के हर पहलू का इम्तिहान लेता है. लेकिन सबसे बड़ा फायदा इसका है कि जो हरकोई इसका मजा लेता है.”

स्मिथ-वार्नर पर इस बार भी होंगी निगाहें
ऑस्ट्रेलिया का टेस्ट में रिकार्ड बीते एक साल में अच्छा नहीं रहा है लेकिन इस सीरीज से उसके दो बेहतरीन बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर वापसी कर रहे हैं. साथ ही कैमरून बैनक्रॉफ्ट भी मैदान पर उतरेंगे. विश्व कप में स्मिथ और वार्नर ने बेहतरीन बल्लेबाजी की थी. अगर यह दोनों उसी फॉर्म को बरकरार रखने में सफल रहे तो इंग्लैंड के लिए परेशानी हो सकती है. उस्मान ख्वाजा भी फिटनेस टेस्ट में पास कर मैच मे खेल रहे हैं.

जेसन रॉय का पहला टेस्ट
इंग्लैंड की ओर से जेसन रॉय को टेस्ट डेब्यू करने का मौका मिला है जबकि विश्व कप में अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित करने वाले तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को यह मौका नहीं मिल सका है. इंग्लैंड ने इस मैच के लिए जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, बेन स्टोक्स और क्रिस वोक्स के रूप में चार तेज गेंदबाज चुने हैं.आर्चर के अलावा सैम कुरेन और ओली स्टोन को भी अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली है.

इंग्लैंड की प्लेइंग इलेवन: रोरी बर्न्‍स, जेसन रॉय, जोए रूट (कप्तान), जोए डेनले, जोस बटलर, बेन स्टोक्स, जॉनी बेयर्सटो, मोइन अली, क्रिस वोक्स, स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन.

ऑस्ट्रेलिया की प्लेइंग : टिम पेन (कप्तान और विकेटकीपर), कैमरून बैनक्रॉफ्ट, पैट कमिंस, ट्रेविस हेड, उस्मान ख्वाजा, जेम्स पैटिनसन, पीटर सीडल, स्टीवन स्मिथ, मैथ्यू वेड, डेविड वार्नर और नाथन लायन.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help