अंबाती रायडू का U-टर्न, कहा- फिर से खेलना चाहता हूं

publiclivenews.in [edited by Pragya Simoniya]
विश्व कप की टीम में नहीं चुने जाने से नाराज होकर संन्यास लेने वाले अंबाती रायडू का मन अब बदल गया है. रायडू ने तीन जुलाई को संन्यास का ऐलान किया था. अभी उनके इस इमोशनल फैसले को दो महीने भी नहीं हुए हैं. लेकिन वे अब संन्यास से वापसी कर फिर से क्रिकेट खेलना चाहते हैं. 33 साल के रायडू ने इसके लिए हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन को पत्र लिखा है.

अंबाती रायडू छह महीने पहले तक भारतीय टीम का अहम हिस्सा थे. कप्तान, कोच और मुख्य चयनकर्ता द्वारा उन्हें आईसीसी विश्व कप के लिए नंबर-4 का सबसे बेहतरीन बल्लेबाज बताया जा रहा था. लेकिन जब 15 अप्रैल को टीम की घोषणा हुई, तब उनकी जगह विजय शंकर को टीम में शामिल कर लिया गया. कहा गया कि विजय शंकर थ्री डायमेंशनल वाले प्लेयर हैं. रायडू ने तभी ट्वीट कर कटाक्ष किया था कि वे विश्व कप देखने के लिए थ्रीडी चश्मा मंगा रहे हैं.

विश्व कप समाप्त होने से पहले ही अंबाती रायडू ने संन्यास की घोषणा कर दी. इस पर मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि उन्होंने थ्रीडी चश्मा का पूरा मजा लिया. वेबसाइट क्रिकइंफो के मुताबिक इस वाक्युद्ध के बीच अंबाती रायडू ने हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन (एचसीए) को पत्र लिखा है. रायडू ने लिखा कि वह एक भावनात्मक फैसला था और वे अब क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में खेलना चाहते हैं.

एचसीए (HCA) को लिखे पत्र में रायडू ने कहा, ‘वे इस मौके पर चेन्नई सुपरकिंग्स, वीवीएस लक्ष्मण और नोएल डेविड को धन्यवाद कहना चाहते हैं. इन सभी ने मुश्किल वक्त में मेरा समर्थन किया. इन सभी ने अहसास कराया कि मुझमें अभी काफी क्रिकेट बची है और मैं आगे खेल सकता हूं.’ रायडू ने कहा, ‘मैं हैदराबाद के लिए आगे खेलने को तैयार हूं. मैं हैदराबाद टीम के लिए 10 सितंबर से खेलने का उपलब्ध रहूंगा.’

हैदराबाद के चीफ सिलेक्टर नोएल डेविड ने इस बारे मे कहा, ‘यह हमारे लिए अच्छी खबर है. रायडू में अभी कम से कम 5 साल की क्रिकेट बाकी है. वे युवा खिलाड़ियों को काफी कुछ सिखा सकते हैं. उनके बिना हमें पिछले साल रणजी ट्रॉफी में काफी संघर्ष करना पड़ा था. उनकी क्लास और अनुभव से हमारी टीम को फायदा होगा.’

अंबाती रायडू ने 55 वनडे और 6 टी20 मैच खेले हैं. उन्होंने वनडे में तीन शतक और 10 अर्धशतक की मदद से 1694 रन बनाए हैं. उनका औसत 47.05 है, जो वनडे क्रिकेट के लिहाज से बेहद शानदार माना जाता है. टी20 इंटरनेशनल मैचों में वे कामयाब नहीं रहे हैं और 6 मैच में सिर्फ 42 रन बना सके हैं. हालांकि, आईपीएल में उनका रिकॉर्ड शानदार हैं. वे आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help