महिला डॉक्‍टर के गैंगरेप-हत्‍या के आरोपियों को तुरंत फांसी देने की लोगों ने की मांग

publiclivenews.in [edited by Pragya Simoniya]
22 साल की पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों का केस कोई भी वकील नहीं लड़ेगा. स्‍थानीय वकीलों ने फैसला किया है कि चारों आरोपियों को किसी भी वकील द्वारा कानूनी सहायता प्रदान नहीं की जाएगी. आज आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा.

अदालत में पेशी से पहले चारों आरोपियों को शादनगर पुलिस स्‍टेशन में रखा गया है. इस घटना से नाराज लोग शनिवार सुबह बड़ी तादात में पुलिस स्‍टेशन के बाहर इकट्ठा हो गए और उन्‍होंने जमकर विरोध प्रदर्शन किया और उन्‍होंने आरोपियों को तुरंत फांसी दिए जाने की मांग की. प्रदर्शनकारी जमकर नारेबाजी करते रहे. प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए भारी संख्‍या में पुलिसबल मौके पर तैनात किया गया.

महबूबनगर जिला बार एसोसिएशन ने इस घटना की कड़ी निंदा की और अपनी बिरादरी से आरोपियों की मदद नहीं करने के लिए कहा है.

उल्‍लेखनीय है कि साइबराबाद पुलिस ने बुधवार को 22 साल की पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में शुक्रवार को चार संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया था. हिरासत में लिए गए लोगों में एक ट्रक ड्राइवर और एक क्लीनर शामिल हैं. पुलिस को अंदेशा है कि आरोपियों ने युवती लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को जला दिया.

बाहरी इलाके शमशाबाद में टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और उसकी हत्या कर दी गई. उसके शव को 25 किलोमीटर दूर ले जाकर रंगा रेड्डी जिले के चटनपल्ली पुल पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया गया.

इस घटना ने राज्यभर के लोगों को स्तब्ध कर दिया है. चौतरफा निंदा के अलावा लोगों ने इस जघन्य अपराध के विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन भी किया. उन्होंने जिले में कानून व्यवस्था का मुद्दा भी उठाया.

तेलंगाना के मंत्री केटी रामाराव ने शुक्रवार को इस घटना की निंदा करते हुए मामले की व्यक्तिगत निगरानी करने का वादा किया. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के बेटे रामाराव ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि पीड़िता को जल्द से जल्द न्याय मिले.

पुलिस ने जुल्म की शिकार हुई युवती की स्कूटी, कपड़े, जूतियां और शराब की बोतल टोल प्लाजा के पास से बरामद की. पुलिस के मुताबिक, पशु चिकित्सक युवती ने अपनी बहन को रात करीब 9:45 बजे फोन किया था कि उसकी स्कूटी पंक्चर हो गई है. किसी ने मदद करने की पेशकश की थी. मृतका की बहन ने पुलिस को बताया कि फोन पर बात करते समय उसकी बहन ने कहा था कि उसे पास खड़े कुछ ट्रक ड्राइवरों से खतरा महसूस हो रहा है. पुलिस को संदेह है कि युवती को जाल में फंसाने के लिए अपराधियों ने उसके वाहन को जानबूझकर पंक्चर कर दिया होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help