निजामुद्दीन मरकज से निकाले 1200 कोरोना संदिग्ध, तबलीगी जमात पर दिल्ली-लखनऊ में हाई लेवल मीटिंग

राजधानी दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज से घातक कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के संदेह में तबलीगी जमात के 1200 लोगों को निकाला जा चुका है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक उन सबकी जांच करवाने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. देश में लॉकडाउन के वक्त इस तरह का आयोजन करना अपराध है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि मरकज बिल्डिंग में मौजूद 24 लोग पॉजिटिव निकले. यहां के 700 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है. इस मरकज में लगभग 1500 सौ लोग ठहरे हुए थे. सभी को इस मरकज से निकालने का दावा किया जा रहा है. मरकज में 1 से 15 मार्च के दौरान विदेशों और देश के कई हिस्सों से तबलीगी जमात के 5 हजार से ज्यादा लोग आए थे.

सभी लोग दिल्ली में 13 से 15 मार्च के बीच होने वाले एक धार्मिक समारोह में भाग लेने आए हुए थे. 24 मार्च को देश भर में लॉकडाउन की घोषणा के बाद भी यहां लगभग दो हजार लोग रुके हुए थे. इनमें से 200 के कोरोना संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है. मरकज में आए जिस शख्स की मौत सोमवार को हुई थी, अब उसके परिवार को क्वारैंटाइन (एकांतवास) में रखा गया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

इसके साथ ही तेलंगाना और तमिलनाडु में निजामुद्दीन के मरकज से गए लोगों की तलाश जारी है. निजामदुद्दीन में तबलीगी जमात से देश के 3 राज्यो के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए थे. जांच एजेंसी को शक है इन तीन राज्यों में तमिलनाडु, तेलंगाना और कश्मीर के लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं.

तमिलनाडु से 1500 लोग जमात इस्लामिक इज्तिमा में शामिल हुए थे. मरकज यानी इस्लामिक धार्मिक आयोजन केंद्र में करीब 200 लोग तेलंगाना से तो कश्मीर से भी सैकड़ों लोग शामिल हुए थे. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और दिल्ली के लोग शामिल हुए थे. इन सभी से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बढ़ गया है. तेलंगाना में मरकज से लौटे करीब 200 लोगों को क्वारनटीन किया गया है, जबकि तमिलनाडु में 800 लोगों की पहचान की गई है.

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में तो दिल्ली में उप राज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस गंभीर मामले पर हाई-लेवल मीटिंग कर रहे हैं. यूपी सरकार ने 18 जिलों की पुलिस को मरकज से लौटे लोगों को तलाशने के आदेश दिए हैं. देशभर से इस मामले को लेकर प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई है. मुस्लिम धर्मगुरुओं ने मामले की जांच की मांग की है.

मरकज में आए 9 लोगों की मौत

तेलंगाना में निजामुद्दीन मरकज से गए लोगों में से 6 की मौत होने की खबर सामने आई है. वहीं अन्य राज्यों में तीन मौत हुई है. वहीं अंडमान में भी कोरोनावायरस के मरीज सामने आए हैं. जमात में भारत से बाहर के भी 15 देशों के 200 के आसपास लोग पहुंचे हुए थे. वहां भी खतरे की घंटी बज चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help