Weather Update Chhattisgarh: पिछले 24 घंटों से लगातार हो रही बारिश, भिलाई के इस इलाके में बाढ जैसे हालात

छत्तीसगढ में मानसून के सक्रिय होने के साथ ही लगातार बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है। राजधानी रायपुर सहित मध्य छत्तीसगढ के विभिन्न इलाकों में पिछले 24 घंटों से लगातार बारिश हो रही है। इसी के साथ तापमान में भी तेजी के साथ गिरावट दर्ज की गई है। लगातार बारिश के चलते नदी-नाले लबालब हो गए हैं। कई जगहों पर बाढ जैसी स्थिति भी निर्मित हो गई है।

लगातार 24 घंटों से हो रही बारिश के चलते भिलाई का कोसा नाला उफान पर आ गया है। यहां बाढ जैसे हालात हैं। नाले के किनारे स्थित बस्ती में भी पानी भर आया है। बताया जा रहा है कि यहां प्रियदर्शिनी नगर इलाके में सडकों पर एक फिट तक पानी भर आया है।

इसके साथ ही लोगों के घरों के अंदर भी पानी भर गया है। दूसरी तरफ यह बारिश खेतों में खरीफ की फसल के लिए लाभकारी साबित होती, लेकन सरगुजा में पिछले पांच दिनों तक रुक-रुक कर होती रही बारिश की वजह से खेतों में पानी भर जाने से मक्के बोनी को नुकसान पहुंचा है। रविवार की शाम से ही राज्य के मध्य इलाके में तगडा सिस्टम बना हुआ है और इसी वजह से लगातार बारिश हो रही है।

सरगुजा संभाग में पिछले 36 घंटों से बारिश का दौर थमा हुआ है, लेकिन अभी भी आसमान में बादल छाए हुए हैं। नए सिस्टम के सक्रिय होने के साथ एक बार फिर यहां बारिश का पूर्वानुमान है। हो रही लगातार बारिश सोमवार को देर रात तक होती रही। ये मानसून की पहली झमाझम बारिश है।

सूखे नाले और नदियों में पानी अपने ऊफान में आने के लिए बेताब हैं। अगर इसी तरह अगले 48 घंटे तक बारिश होती रही तो नाले-नालियों में बाढ़ के हालात बन जाने की संभावना रहेगी। बहरहाल, मौसम विभाग ने भारी वर्षा के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक 25 जून तक अभी अच्छी बारिश की संभावना है। इधर दिन भर तेज हवा और चमक-गरज के साथ बारिश होती रही।

इसके रायपुर नगर और ग्रामीण अंचलों में कहीं-कहीं जलभराव हो गए थे। वहीं नालियों की समय पर साफ-सफाई नहीं होने का असर भी दिखा। दर्जनों कॉलोनियों में नालियां ओवरफ्लो हो गईं। दुर्ग में शिवनाथ नदी का जल स्तर भी काफी बढ गया है। धमतरी में भी इसी तरह के हालात हैं। महानदी तट से लगे इलाकों में कई जगहों पर बाढ जैसा नजारा दिख रहा है।

पिछले वर्ष की अपेक्षा इतनी हुई बारिश

इस बार एक से 22 जून तक अभी तक 206 मिमी वर्षा दर्ज की गई है, जबकि पिछले वर्ष 215 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी। मानसून के सिस्टम को देखते हुए मौसम विभाग को अनुमान है कि ये रिकॉर्ड टूट सकता है।

राज्य के प्रमुख शहरों का तापमान

शहर अधिकतम न्यूनतम

रायपुर 31.6 23.2

अम्बिकापुर 27.3 21.2

बिलासपुर 27.4 23.2

पेंड्रारोड 26.4 20.8

जगदलपुर 27.7 20.3

(इकाई : डिग्री से.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help