DU में कल से शुरू होंगे एडमिशन

 डीयू (Delhi University) में एडमिशन (Admission) के लिए इस बार 100 फीसदी  कट ऑफ (Cut-off list) निकाली गई है. दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्री राम कॉलेज (LSR College) में एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स के लिए बेस्ट फोर सब्जेक्ट में 100 फीसदी मार्क्स लाना जरूरी होगा. 5 साल बाद ऐसा हो रहा है जब डीयू में एडमिशन के लिए 100 फीसदी की कट ऑफ निकाली गई है. डीयू में दाखिले की दौड़ कल से शुरू होगी और आवेदन के लिए 55 घंटे मिलेंगे. इसके अलावा इस बार कोरोना (Coronavirus) के चलते घर बैठे एडमिशन (Online Admission) होगा. दिल्ली यूनिवर्सिटी के ज्यादातर कॉलेजों में कट ऑफ 99 फीसदी से ऊपर गया है.

शनिवार को दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में एडमिशन के लिए विभिन्न कॉलेजों की पहली कट ऑफ लिस्ट जारी कर दी गई है. हर साल की तरह इस साल भी दिल्ली यूनिवर्सिटी की कट ऑफ काफी हाई है.

बोर्ड परीक्षाओं में 90 प्रतिशत से ज्यादा अंक लाने वाले अधिक छात्रों के कारण इस साल कट-ऑफ ऊंची गई है. 

आइए जानते हैं डीयू ए​डमिशन से जुड़ी सबसे जरूरी बातें-

-इस बार लेडी श्रीराम काल फॉर वुमन में BA (H) Economics,  BA (H) Political Science और BA (H) Psychology में एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स को बेस्ट 4 सब्जेक्ट में 100 फीसदी मार्क्स होने पर ही दाखिला मिलेगा. इसी कॉलेज में BCom (H) में दाखिले के लिए कटऑफ 99.75 फीसदी है. हिंदू कॉलेज में BA (H) Economics में दाखिले के लिए 99.25% फीसदी अंक होने जरूरी हैं.

-नॉर्थ और साउथ कैंपस के टॉप कॉलेजों के अलावा ऑफ कैंपस इवनिंग कॉलेजों में भी इस साल कट ऑफ काफी हाई है.

-हंसराज कॉलेज में बीकॉम ऑनर्स की कट ऑफ 99.25% है. इकोनॉमिक्स में कटऑफ 98.75% और अंग्रेजी की कट ऑफ पिछले साल से एक अंक ज्यादा रही. हिंदी के लिए भी कट ऑफ 86% से बढ़कर 90% हो गई है. 

-श्रीराम कॉलेज में कट ऑफ 2019 में 98.5% से बढ़कर इस साल 99.5% हो गई है. इकोनॉमिक्स की कट ऑफ भी 0.25 फीसदी बढ़कर 99% हो गई है.

-किरोड़ी मल कॉलेज में  पाठ्यक्रमों में सर्वोच्च कटऑफ बीकॉम ऑनर्स में 98.75% रही जबकि बीएम इकोनॉमिक्स और बीकॉम (पी) में कटऑफ क्रमश: 98.5% और 98% तक पहुंचा है.

-आर्यभट्ट कॉलेज में इकोनॉमिक्स की कट ऑफ दो फीसदी से बढ़कर 98% तक पहुंच गई है. यहां बीकॉम ऑनर्स का कट ऑफ 96 से बढ़कर 97.5 फीसदी हो गया है. पॉलिटिकल साइंस की कट ऑफ चार अंक बढ़कर 95 फीसदी हो गई. अंग्रेजी और साइकोलॉजी में भी दाखिले की न्यूनतम अंक सीमा क्रमशः एक और दो फीसदी बढ़ी है.

कब से शुरू होगा दाखिला
-दिल्ली यूनिवर्सिटी में फर्स्ट कट ऑफ लिस्ट के माध्यम से दाखिला 12 अक्टूबर से शुरू होगा. नया सत्र 18 नवंबर से शुरू होगा.

-पहली कट ऑफ लिस्ट के आधार पर एडमिशन 14 अक्टूबर 2020 तक लिए जाएंगे. 

-ऑनलाइन पोर्टल खोलने की समय सीमा 55 घंटे की रखी गई है.

-आवेदन के लिए सोमवार सुबह 10 बजे से बुधवार शाम 5 बजे तक दाखिले का पोर्टल खुलेगा.

-इसके लिए फीस जमा कराने की अंतिम तारीख 16 अक्टूबर 2020 है.

-इस बार 70 हजार के करीब सीटों पर दाखिले के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय पांच कट ऑफ सूची और एक स्पेशल सूची जारी कर सकता है. एडमिशन प्रोसेस इस बार पूरी तरह से ऑनलाइन है.

कॉलेज और यूनिवर्सिटी के बाहर कोई एडमिशन डेस्क नहीं
-इस बार कोरोना के चलते कहीं भी स्टूडेंट्स को कॉलेज /यूनिवर्सिटी के बाहर कोई जानकारी या एडमिशन डेस्क से नहीं मिलेगी.

-वेबसाइट पर साफ कर दिया गया है कि कॉलेज में किसी छात्र या अभिवावक को एडमिशन प्रोसेस के लिए एंट्री नहीं दी जाएगी. सभी प्रक्रियाएं ऑनलाइन ही पूरी होंगी.

पहली बार ऑनलाइन दाखिला
-दिल्ली विश्वविद्यालय पहली बार अंडर ग्रेजुएट कोर्स के लिए ऑनलाइन दाखिला करने जा रहा है.

-इसमें छात्र को खुद का कट ऑफ देखकर कॉलेज द्वारा तय कट ऑफ पर एडमिशन लेना है.

-किसी भी छात्र को या अभिभावक को किसी भी परिस्थिति में विश्वविद्यालय परिसर या कॉलेज में जाने की आवश्यकता नहीं है.

-इसके लिए 12 अक्टूबर  सोमवार को सुबह 10 बजे पोर्टल खुलेगा और 14 तारीख को शाम 5 बजे तक लगातार खुला रहेगा.

-कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार दिल्ली यूनिवर्सिटी में पहली बार दाखिला ऑनलाइन हो रहा है.

-देशभर से आवेदन आते हैं इसलिए दाखिले के लिए पर्याप्त समय दिया जा रहा है.

वेरिफिकेशन के लिए समय मिलेगा
अब छात्रों को प्रमाण पत्रों के सत्यापन (वेरिफिकेशन) के लिए भी पर्याप्त समय मिलेगा.

-अगर पूरी प्रक्रिया को समझें तो  पहले कट ऑफ के बाद सबसे पहले 12 अक्टूबर से ये प्रक्रिया शुरू हो रही है.

-स्टूडेंट्स ug.du.ac.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन के समय दी गई अपनी आईडी और पासवर्ड डालेंगे.

-होम स्क्रीन पर कट ऑफ से जुड़ी सारी जानकारी होगी. 

-अपना कोर्स और कॉलेज फाइनल करने के बाद छात्रों को एक रेफेरेंस नंबर मिलेगा.

-कॉलेज से मांगी हुई डिटेल्स और डॉक्यूमेंट शेयर करने की सारी जानकारी पोर्टल पर देखी जा सकेगी.

-अगर कॉलेज को किसी अतिरिक्त डॉक्यूमेंट की जरूरत होगी तो उसके लिए एक मेल कॉलेज द्वारा छात्र तक पहुंचाया जाएगा.

-उसके बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन यानी सत्यापन की प्रक्रिया होगी.
 
डॉक्यूमेंट्स का सत्यापन तीन चरणों में
स्टूडेंट्स के डॉक्यूमेंट्स का सत्यापन तीन चरणों में होगा.

-सबसे पहले शिक्षक, इसके बाद दाखिल कमेटी के कन्वेनर और आखिर में प्राचार्य सत्यापन (वेरीफाई) करेंगे.

-सत्यापन के लिए पोर्टल पर ऑनलाइन कैलकुलेटर जैसी सुविधाओं  को जोड़ा गया है.

-दाखिले के लिए आवेदन करने वाले छात्रों के 12वीं के प्राप्तांको के आधार पर बेस्ट ऑफ 4 की गणना कालेजों को नहीं करनी पड़ेगी. यह गणना डिजिटल कैलकुलेटर करेगा.

 -यह फॉर्म के आधार पर सब कुछ कैलकुलेट कर के देगा. प्रिंसिपल को बस देखना होगा कि बच्चा कट ऑफ के दायरे में है या नहीं. 

-अपनी फीस भरने में बाद स्टूडेंट का एडिमिशन प्रोसेस पूरा हो जाएगा.

-ऑनलाइन दाखिला निरस्त या आवेदन में किसी भी तरह की गलती पर डीयू के कॉलेज छात्रों को सूचित करेंगे और संबंधित बदलाव और सुधार करने को कहेंगे.

दिल्ली यूनिवर्सिटी के 64 कॉलेजों में एडशिन
DU Cut off List 2020 दिल्ली यूनिवर्सिटी के 64 कॉलेजों के लिए जारी की जाएगी. मेरिट लिस्ट के आधार पर दाखिला मिलेगा.

पहली कट-ऑफ के लिए एडमिशन – 12 अक्टूबर से 14 अक्टूबर तक

दूसरी कट-ऑफ के लिए एडमिशन – 19 अक्टूबर से 21 अक्टूबर तक

तीसरी कट-ऑफ के लिए एडमिशन – 26 अक्टूबर से 28 अक्टूबर तक

चौथी कट-ऑफ के लिए एडमिशन – 2 नवंबर से 4 नवंबर तक

पांचवीं कट-ऑफ के लिए एडमिशन – 9 नवंबर से 11 नवंबर तक

सत्र की शुरुआत – 18 नवंबर 2020

स्पेशल कट-ऑफ के लिए एडमिशन
अगर इसके बाद भी सीटें खाली रह जाती हैं, तो यूनिवर्सिटी उन्हें भरने के लिए नई कट-ऑफ लिस्ट बाद में जारी करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help