आईआईटी दिल्ली द्वारा विकसित उपचार व रक्षा समेत 70 से अधिक अत्याधुनिक तकनीकों का प्रदर्शन

0
20


नई दिल्ली| आईआईटी दिल्ली के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित 70 से अधिक अत्याधुनिक तकनीकों को व्यावसायिक घरानों के शीर्ष नेतृत्व की मौजूदगी मे प्रदर्शित किया जाएगा। इनमें मिर्गी का तेजी से पता लगाने के लिए आर्टिफिशियल इन्टेलिजन्स आधारित पोर्टेबल डिवाइस, रक्षा कर्मियों के लिए बेहद ठंडे मौसम के कपड़े, पैरालिसिस से ग्रस्त व्यक्ति के लिए हैन्ड एक्सोस्केलेटन आदि शामिल हैं।

आईआईटी दिल्ली, उद्योग-अकादमिक भागीदारी कार्यक्रम के जरिए , 10 दिसंबर को उद्योग दिवस पर यह आयोजित करेगा। इसमे बताया जाएगा कि कैसे आईआईटी दिल्ली ऐसी तकनीकों को विकसित करने के लिए काम कर रहा है, जिससे उद्योग और समाज दोनों को लाभ होगा। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के एग्जीक्यूटिव वाईस प्रेजिडेंट और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर, के. अनंत कृष्णन, मुख्य अतिथि होंगे। वह आईआईटी दिल्ली के पूर्व छात्र भी हैं। उनके अलावा कार्यक्रम में 15 से अधिक बड़े कॉपोर्रेट और व्यावसायिक घरानों के शीर्ष नेतृत्व उपस्थित रहेंगे।

आईआईटी दिल्ली के मुताबिक उद्योग दिवस चार विषयों पर केंद्रित होगा, जो सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाएगा। हेल्थकेयर, इलेक्ट्रिक वाहन, संचार प्रौद्योगिकी और स्वच्छ ऊर्जा, पर्यावरण पर विषयगत सत्रों में उद्योग के लीडर्स, वैज्ञानिकों, आईआईटी दिल्ली के संकाय, शोध विद्वानों और छात्रों द्वारा भाग लिया जाएगा। ये तमाम वक्ता मौलिक अवधारणाओं और नए ²ष्टिकोणों पर विचार-विमर्श करेंगे।

आईआईटी दिल्ली के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित 70 से अधिक अत्याधुनिक तकनीकों को उद्योग दिवस पर प्रदर्शित किया जाएगा। इस आयोजन में आईआईटी दिल्ली के छात्रों द्वारा बनाए गए 150 से अधिक उद्योग-संबंधित अवधारणा पोस्टर भी होंगे।

प्रदर्शित किए जाने वाले अत्याधुनिक अनुसंधान के कुछ उदाहरणों में, मिर्गी का तेजी से पता लगाने के लिए आर्टिफिशियल इन्टेलिजन्स आधारित पोर्टेबल डिवाइस, रक्षा कर्मियों के लिए बेहद ठंडे मौसम के कपड़े, बायोमेडिकल उपकरणों और स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों को शक्ति प्रदान करने के साधन, इलेक्ट्रिक वाहन पावर कन्वर्टर्स, पैरालिसिस से ग्रस्त व्यक्ति के लिए हैन्ड एक्सोस्केलेटन, वेस्ट वाटर ट्रीटमेंट के लिए पुन उपयोग में लाए जाने वाला सीरिंज, इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए प्रौद्योगिकियां, इत्यादि शामिल हैं।

उद्योग दिवस 2022 के बारे में बात करते हुए आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर रंगन बनर्जी ने कहा, हम उद्योग जगत के साथ अपने संबंधों को बढ़ाने के लिए उत्सुक हैं और उन्हें भविष्य के लिए तैयार स्नातकों के साथ-साथ अपने शोध के माध्यम से प्रतिस्पर्धी बढ़त प्रदान करने में भूमिका निभाना चाहते हैं। हम इंडस्ट्री का स्वागत करते हैं की वो उद्योग दिवस के माध्यम से आईआईटी दिल्ली के साथ भागीदारी के अवसरों को तलाशें।

प्रोफेसर सुनील कुमार खरे, डीन, कॉरपोरेट रिलेशंस, और रिसर्च एंड डेवलपमेंट, आईआईटी दिल्ली ने कहा कि इस साल के उद्योग दिवस के लिए चुनी गई थीम और तकनीकें हमारे आंतरिक और बाहरी अनुसंधान समुदायों की जरूरतों और ²ष्टिकोण को दर्शाती हैं। यह उद्योग और अकादमिक को बढ़ावा देंगी। साथ ही विभिन्न हितधारक समुदायों के बीच सहयोग के नए अवसर और प्रभाव पैदा करेगी।






Read this news in English visit IndiaFastestNews.in