आज से शुरू होगा इंडियन प्रीमियर लीग के 17वें सीजन का रोमांच Public Live

0
20

आज से शुरू होगा इंडियन प्रीमियर लीग के 17वें सीजन का रोमांच

PublicLive.co.in

चुनावी महासमर के बीच शुक्रवार से देश में फटाफट क्रिकेट का खुमार छाएगा। चेन्नई में शुक्रवार को पांच बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के बीच मुकाबले से इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के 17वें सत्र का बिगुल बजेगा।

17 दिन का शेड्यूल हुआ है जारी

अगले दो महीने तक चलने वाले इस जलसे में 10 टीमें चमचमाती ट्राफी के लिए जोर लगाएंगी। फाइनल मुकाबला 20 मई को खेला जाएगा। लोकसभा चुनाव के कारण आइपीएल के पहले चरण के कार्यक्रम की घोषणा की गई थी, जिसके मुकाबले सात अप्रैल तक खेले जाएंगे। बीसीसीआइ शेष कार्यक्रम जल्द घोषित करेगा। ये दूसरी बार होगा जब लोकसभा चुनाव के साथ आइपीएल का आयोजन भारत में ही होगा।

उद्घाटन समारोह में लगेगा बालीवुड का तड़का

उद्घाटन मुकाबले से पहले एमए चिदंबरम स्टेडियम में रंगारंग कार्यक्रम होगा, जिसमें बालीवुड अभिनेता अक्षय कुमार, टाइगर श्राफ, संगीतकार एआर रहमान व गायक सोनू निगम प्रस्तुति देंगे।

आइपीएल में ये होगा पहली बार –

  • एक ओवर में गेंदबाज अब एक की जगह दो बाउंसर फेंक सकेंगे।
  • टीवी अंपायरों के सटीक निर्णय के लिए स्मार्ट रीप्ले सिस्टम का प्रयोग।

नंबर गेम

  • 6 टीमें अब तक जीत चुकी हैं आइपीएल की ट्राफी
  • 5-5 बार खिताब जीत चुके हैं चेन्नई और मुंबई

नहीं दिखेंगे ये बड़े सितारे

  • मोहम्मद शमी, जोफ्रा आर्चर, बेन स्टोक्स, स्टीव स्मिथ, हैरी ब्रूक।

Previous article16 साल के आईपीएल इतिहास में पहली बार होगा ऐसा Public Live
Next articleफ्री में कब, कहां और कैसे देखें CSK vs RCB के बीच आईपीएल का पहला मैच? जानें यहां Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।