इंदौर में तीसरी मंजिल से गिरे बच्चे ने दम तोड़ा, मां को नहीं दी गई जानकारी Public Live

0
15

इंदौर में तीसरी मंजिल से गिरे बच्चे ने दम तोड़ा, मां को नहीं दी गई जानकारी

PublicLive.co.in

इंदौर ।   तीसरी मंजिल से गिरने से चार साल के एक बच्चे ने दम तोड़ दिया। वह अपनी बहन के साथ छत पर खेल रहा था। तभी वह छत से नीचे गिर गया। बच्चे की मौत के बाद परिजन ने डाक्टरों पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। परिजन का कहना है इलाज देर से शुरू किया वरना बेटे की जान बच सकती थी। उपचार के सात घंटे के बाद बच्चे की मौत हो गई। बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।एरोड्रम पुलिस ने बताया कि बच्चे का नाम आर्यन (4 साल) है। उसके पिता रामस्वरूप ललितपुर (उप्र) के रहने वाले हैं। वे यहां सांवरिया नगर में किराए से रहते हैं और एक फैक्ट्री में काम करते हैं। वे मंगलवार सुबह 9 बजे फैक्ट्री जाने की तैयारी कर रहे थे और बच्चे की मां टिफिन तैयार कर रही थी। उस समय आर्यन घर की तीसरी मंजिल पर बड़ी बहन (5 साल) के साथ खेल रहा था। तभी वह तीसरी मंजिल से फिसलकर पड़ोस वाले घर की छत पर गिर गया। उसे तत्काल एमवाय अस्पताल पहुंचाया गया जहां सात घंटे के उपचार के बाद उसने दम तोड़ दिया।

तीन अस्पतालों में दिखाया फिर एमवाय पहुंचे

आर्यन के परिवार के लोगों ने कहा कि आर्यन को पहले तीन अस्पतालों में दिखाया गया फिर एमवाय लेकर गए। एमवाय अस्पताल पहुंचने में काफी देरी हो गई थी। एमवाय में सिटी स्कैन कराने के लिए डॉक्टर बलून की व्यवस्था नहीं करा पाए। यहां आधे घंटे बाद उपचार शुरू किया गया। 

Previous articleश्ईवी उपयोग पोर्टलश् को कई खूबियों से लैस करने पर योगी सरकार का फोकस Public Live
Next articleमहादेव ऑनलाइन सट्टा ऐप केस में मुख्य आरोपी को पकड़वाने पर पुलिस ने किया इनाम घोषित Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।