इसरो लांच करेगा मौसम की सैटेलाइट Public Live

0
11

इसरो लांच करेगा मौसम की सैटेलाइट

PublicLive.co.in

नई दिल्ली । भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन 17 फरवरी को श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से अपने सबसे भारी रॉकेट जीएसएलवी का उपयोग करते हुए मौसम विज्ञान एवं आपदा से संबंधित चेतावनी देने वाले उपग्रह इनसैट-3डीएस का प्रक्षेपण करने की तैयारी कर रहा है। इसरो ने गुरुवार को कहा कि जीएसएलवी-एफ14/इनसैट-3डीएस मिशन श्रीहरिकोटा के शार-रेंज से 17 फरवरी को 17.30 बजे उड़ान भरेगा। इसरो ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि जीएसएलवी-एफ14/इन्सैट-3डीएस मिशन 17 फरवरी को शाम 5:30 बजे एसडीएससी-शार, श्रीहरिकोटा से उड़ान भरने के लिए निर्धारित है। इसरो ने कहा कि अपनी 16वीं उड़ान में जीएसएलवी मौसम विज्ञान एवं आपदा से संबंधित चेतावनी देने वाले उपग्रह इनसैट-3डी को तैनात करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। यह मिशन पूर्ण रूप से पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है।

Previous articleसिटी बस में सफर के दौरान जेबकट ने उड़ाया उत्तरप्रदेश के युवक का पर्स  Public Live
Next articleरेलवे स्टेशन पर गलती से चली गोली में आरपीएफ जवान की मौत, यात्री घायल Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।