कांग्रेस चुनाव ना लड़ पाए इसलिए सरकार ने 11 बैंक एकाउंट फ्रीज करवाए : शक्तिसिंह गोहिल Public Live

0
21

कांग्रेस चुनाव ना लड़ पाए इसलिए सरकार ने 11 बैंक एकाउंट फ्रीज करवाए : शक्तिसिंह गोहिल

PublicLive.co.in

अहमदाबाद | गुजरात प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख और राज्यसभा सांसद शक्तिसिंह गोहिल ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस चुनाव ना लड़ पाए, इसलिए सरकार ने उसके 11 बैंक एकाउंट फ्रीज करवा दिए| पूरी तरह से अलोकतांत्रिक तरीके से कार्य करके लोकतंत्र को बदनाम करने और कांग्रेस के खातों को फ्रीज करने के लिए भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए शक्तिसिंह गोहिल कहा कि हमारे देश के लोकतंत्र की महान परंपरा और आजादी के बाद दुनिया भर में उत्कृष्ट प्रतिष्ठा हासिल की है। घबराई हुई भाजपा ने ऐसा इसलिए किया है कि विपक्ष समान रूप से चुनाव नहीं लड़ सके| लोकतंत्र का मूल सिद्धांत है समान व्यवस्था, सभी राजनीतिक दलों को जनता के बीच जाने का समान अवसर यानी अंग्रेजी में इक्वल लेवल प्लेइंग फील्ड कहा जाता है। भाजपा द्वारा पूर्व में दिए गए बड़े-बड़े वादे पूरी तरह विफल रहे हैं। आगामी लोकसभा चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ेगा और जब अब की बार सत्ता से तड़ीपार जैसी स्थिति हो गयी है तो विपक्षी दलों को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए सारी चालें चलनी शुरू हो गयी हैं| कांग्रेस पार्टी के खाते फ्रीज कर दिए गए हैं और 115.32 करोड़ रुपये जो देश की जनता ने भाजपा के खिलाफ लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी को पैसे के रूप में दिए थे, उन्हें कांग्रेस पार्टी के खातों से वापस ले लिया गया है।

शक्तिसिंह गोहिल ने हमारे देश के कानून के मुताबिक राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले चंदे पर कोई इनकम टैक्स नहीं लगता है| भाजपा समेत कोई भी राजनीतिक दल आयकर नहीं देता| उन्होंने सवाल किया कि आखिर कांग्रेस पार्टी के केवल 11 बैंक खाते ही क्यों फ्रीज किये गये? वर्ष 2017-18 में कांग्रेस पार्टी को रु. दान में 210 करोड़, जिसमें से केवल रु. 14.49 लाख रुपये सांसदों से नकद दान के रूप में प्राप्त हुए| यानी कुल प्राप्त दान का 0.07% नकद में था। सात साल बाद साल 2017-18 में मिले इस चंदे का पूरा अध्याय सिर्फ अगले चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए आर्थिक दिक्कतें पैदा करने के लिए उठाया गया| यह टाइमिंग देखें 13 फरवरी, 2024 को कांग्रेस पार्टी के बैंक खाते फ्रीज कर दिए गए और रु. 210.25 करोड़ का लियन निकाला गया| केवल रु. 14.49 लाख के नकद दान पर 106% अतिरिक्त के रूप में 210 करोड़ की मांग कितनी वाजिब? इनकम टैक्स की धारा 234(F) के मुताबिक, कोई भी कमी होने पर सिर्फ 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है| इस पूरे मामले से यह साफ हो गया है कि हारी हुई भाजपा ही विपक्ष को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए अलोकतांत्रिक हथकंडे अपना रही है| भाजपा ने वर्ष 1993-94 में जब सीताराम केसरी अध्यक्ष थे, तब ग्रहणाधिकार शुल्क की गणना करके कांग्रेस पार्टी को परेशान करने के लिए एक और हास्यास्पद नोटिस जारी किया है। 31 साल बाद इस तरह की मांग या नोटिस बीजेपी की हताशा की हद को साफ दर्शाता है| इस पूरी तरह से अवैध कार्रवाई के खिलाफ, कांग्रेस पार्टी ने सात साल तक कोई कार्रवाई नहीं की, क्योंकि वह न्याय पाने के लिए एक निश्चित अदालत में जा सकती थी और केवल तभी जब चुनाव सामने आए, बैंक खातों को फ्रीज कर दिया गया और पैसे वापस ले लिए गए ताकि अब जब इनकम टैक्स ट्रिब्यूनल से लेकर कानूनी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचती है, तब तक चुनाव खत्म हो जाएगा| जबकि चुनाव के समय पैसे की जरूरत होती है तो कांग्रेस पार्टी को पैसा नहीं मिलता, इस तरह की हल्की राजनीति भाजपा ने की है|

गुजरात प्रदेश कांग्रेस प्रमुख गोहिल ने कहा कि एक तरफ भाजपा ने चुनावी बांड के नाम पर 82 अरब 52 करोड़ रुपये का फंड इकट्ठा किया है| एक ओर सरकारी खजाने से भारी लाभ देने और दूसरी तरफ चुनावी बांड के नाम पर कमीशन लेने और ईडी, आईटी और सीबीआई द्वारा किश्तें वसूलने के कई मामले तब सामने आए सुप्रीम कोर्ट ने चुनावी बांड की जानकारी सार्वजनिक करने का आदेश दिया| जो पार्टी 82 अरब 52 करोड़ रुपये के चुनावी बांड से धनसंग्रह कर वह पार्टी प्रमुख विपक्षी दल के बैंक खाते फ्रीज करवा दे और अवैध तरीके से धन भी निकाल ले| ताकि मुख्य विपक्षी दल चुनाव न लड़ सके, यह लोकतंत्र के इतिहास में काले अक्षरों में लिखा जाएगा और जनता इसे माफ नहीं करेगी| कांग्रेस पार्टी को विश्वास है कि देश की महान जनता लोकतंत्र को नष्ट करने वाली भाजपा को माफ नहीं करेगी और उसे हरा देगी।

गुजरात कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सीडब्ल्यूसी सदस्य जगदीश ठाकोर ने कहा कि देश का तानाशाह डरा हुआ है| हर कोई जानता है कि जब वह सत्ता में थे तो उन्होंने क्या खेल किया| वह जानता है कि अगर सत्ता चली गयी तो क्या होगा? भाजपा ने राहुल गांधी की यात्रा को रोकने की कई कोशिशें कीं| भाजपा ने कांग्रेस को परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी| भाजपा ने 10 साल में तालुका से लेकर जिलों और राज्यों तक कार्यालय बनाए|  10 साल में होटल जैसा ऑफिस बनाने के लिए पैसा कहां से आया? कमलम में कमीशन जमा कराने  पर ही सरकारी अनुबंध बिलों को मंजूरी मिलेगी| भाजपा चुनाव में ऐसे कई हथकंडे अपनाएगी।

राज्य के पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जयनारायण व्यास ने कहा कि कांग्रेस के मंच से सिर्फ तथ्य ही बताना चाहते हैं| इनमें से कोई भी कांग्रेस पार्टी के बैंक खाते को फ्रीज करने का आधार नहीं है। विजय माल्या 9 हजार करोड़ रुपए का बैंक को चूना लगा गया| नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, संदेसरा ब्रदर्स ये सभी लोग करोड़ों रुपए लेकर चले गए, मोदी सरकार के राज में देश में धोखाधड़ी की रकम 5.3 ट्रिलियन रुपए तक पहुंच गई है| दुनिया में बड़े सम्मान से पेश आने की बात करने वाली भाजपा ज्होनिसबर्ग में साहब के विमान को 15 मिनट तक रोके जाने पर कुछ नहीं बोलती| एक भारतीय के तौर पर इससे दुख होता है कि भाजपा आत्मविश्वास खो रही है| महाभारत में कृष्ण ने पांडवों के लिए सिर्फ 5 गांव मांगे थे। भाजपा देश को अराजकता, दंगे, ध्रुवीकरण की ओर ले जा रही है। कांग्रेस वर्षों से बहने वाली नदी का प्रवाह है और इसे एक हाथ से नहीं रोका जा सकता। श्यामाप्रसाद मुखर्जी और अटलजी कांग्रेस से जुड़े थे और बाद में जनसंघ से जुड़े थे और बाद में जनसंघ से जुड़ गए थे। दिल्ली सरकार की कुरुक्षेत्र बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि मालदीव जैसे छोटा देश दिखाता है भाजपा सरकार वहां अपनी ताकत दिखाए|