चपनेर गांव में ढाई लाख अफीम के पौधे जब्त  Public Live

0
20

चपनेर गांव में ढाई लाख अफीम के पौधे जब्त 

PublicLive.co.in

भोपाल । प्रदेश के छतरपुर जिले के चपनेर गांव में बडे पैमाने पर अफीम की खेती होती पकड़ी गई है। यहां से पांच थानों की पुलिस ने कार्रवाई कर अफीम के करीब ढाई लाख से ज्यादा पौधे जब्त किए गए हैं। जिले की बिजावर पुलिस को एक बड़ी सफलता अफीम की खेती को पकड़ने के रूप में हाथ लगी है। बता दें कि 13 मार्च 2024 को थाना किशनगढ़ क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चपनेर के एक खेत में अवैध मादक पदार्थ अफीम की खेती किए जाने की सूचना मिली। सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधीक्षक छतरपुर अमित सांघी द्वारा एसडीओपी बिजावर शशांक जैन के नेतृत्व में थाना बिजावर, थाना किशनगढ़, थाना पिपट, थाना सटई, थाना बमीठा से विशेष पुलिस टीम गठित की गई। थाना प्रभारी किशनगढ़ उप निरीक्षक राजकुमार तिवारी द्वारा गोपनीय तरीके से सूचना की तस्दीक की गई, एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया गया। तस्दीक उपरांत पुलिस टीम द्वारा थाना किशनगढ़ के ग्राम चपनेर मौजे के एक खेत में छापामारी कार्यवाही की गई। विशेषज्ञों द्वारा खेत में अवैध मादक पदार्थ अफीम के पौधे की फसल होने की पुष्टि की गई। उसके बाद कार्रवाई को अंजाम दिया गया। एसपी अमित सांघी के निर्देश पर एसडीओपी बिजावर शशांक जैन के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम द्वारा श्रमिक एकत्रित कर अवैध मादक पदार्थ अफीम की फसल की कटाई का कार्य प्रारंभ हुआ। करीब दो बीघा क्षेत्र में खेत में चारों तरफ से पुलिस की निगरानी में 24 घंटे निरंतर फसल कटाई चलने उपरांत लाखों की संख्या में अफीम के पौधे एकत्रित किए गए। एकत्रित पौधों को संख्यावार गट्ठा बनाकर बोरियों में पैक किया गया। अफीम की फसल में करीब ढाई लाख से अधिक मात्रा, वजन 51 कुंटल अफीम के पौधे जब्त किए गए। जब्त अफीम के पौधों की कीमत करीब 50 लाख रुपये से ज्यादा है। अफीम की इस फसल को चारों तरफ से कोई देख ना पाए इस हेतु खेत के चारों तरफ तार फेंसिंग पत्थरों की बाउंड्री एवं झाड़ियां का उपयोग किया गया था। अफीम के पाए जाने पर थाना किशनगढ़ में एनडीपीएस एक्ट के तहत संबंधित आरोपियों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया। साथ ही पुलिस टीम द्वारा संबंधित आरोपियों की तलाश की जा रही थी। फीम की फसल का खेत स्वामी उम्र 50 साल निवासी गंज थाना बमीठा हाल चपनेर हार थाना किशनगढ़ एवं उसके सहयोगी उम्र 40 साल निवासी सदना थाना बमीठा को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। अभिरक्षा में लिए गए दोनों अभियुक्तों से पुलिस टीम द्वारा बारीकी से पूछताछ की जा रही है। इस बारे में छतरपुर के पुलिस अधीक्षक अमित सांघी का कहना है कि किशनगढ़ क्षेत्र में बड़े स्तर पर अफीम की खेती की जा रही थी। स्थानीय लोग इस कार्य को अंजाम दे रहे थे। बड़ी मात्रा में पौधों को जब्त किया गया है। इसके पीछे किसी और का सहयोग तो नहीं है इसे लेकर भी जांच पड़ताल कर रहे हैं।

Previous articleफ्रांस के राष्ट्रपति का दावा- यूरोप शांति चाहता है तो युद्ध के लिए तैयार रहना होगा  Public Live
Next articleभवन निर्माण के दौरान हाईटेंशन तार की चपेट में आने से मजदूर झुलसा  Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।