जापान में भूकंप के झटके, बाल-बाल बचे राजामौली Public Live

0
18

जापान में भूकंप के झटके, बाल-बाल बचे राजामौली

PublicLive.co.in

टोकयो, । गुरुवार को जापान में 5.3 की तीव्रता वाला भूकंप आया था इस दौरान जापान में  फिल्म की शूटिंग को लेकर जापान गए साउथ फिल्मों के जाने-माने फिल्ममेकर एसएस राजामौली फंस गए। राजामौली के साथ उनका बेटा कार्तिकेय भी था।

 पिछले कुछ दिनों से राजामौली अपनी फिल्म आरआरआर की स्क्रीनिंग के चलते जापान में हैं जहां उन्होंने जापान में आए भूकंप को करीब से देखा राजामौली अपने बेटे कार्तिकेय के साथ जापान में एक बिल्डिंग की 28वीं मंजिल पर मौजूद थे। कार्तिकेय ने अपनी स्मार्टवॉच की एक तस्वीर साझा की, जिसमें भूकंप का अलर्ट देखने को मिला और अनुभव के बारे में बताया। कार्तिकेय ने बताया कि भूकंप के झटके काफी तेज थे उसे देख कर ही डर लग रहा था। उन्होंने कहा मैंने बहुत ही भयानक और डावना मंजर देखा। भूकंप का फोटो शेयर करते हुए कार्तिकेय ने कैप्शन में लिखा- ‘जापान में अभी-अभी भयंकर भूकंप महसूस हुआ। 28वीं मंजिल पर था और धीरे-धीरे जमीन हिलने लगी और हमें यह समझने में थोड़ा समय लगा कि यह भूकंप था. मैं बस घबराने ही वाला था, लेकिन आस-पास के सभी जापानी लोग सामान्य नजर आ रहे थे।

कार्तिकेय के इस पोस्ट ने उनके फैंस को चिंता में डाल दिया। कई यूजर्स ने उनके पोस्ट पर रिएक्शन देते हुए उनकी सलामती के बारे में पूछा तो कुछ ने उनके और उनके पापा राजामौली के जल्द भारत लौटने की प्रार्थना की। एक यूजर ने लिखा- मुझे खुशी है कि आप सभी सुरक्षित हैं। एक फैन ने कहा, बाद में फिर झटके आ सकते हैं, इसलिए कृपया आज सावधान रहें। एक और यूजर लिखता है- मैं आपको सुरक्षित देखकर खुश हूं। मुझे यह सुनकर राहत मिली कि आप सुरक्षित हैं, अपनी बची हुई यात्रा का आनंद लें।

राजामौली और आरआरआर को जापान से बहुत प्यार मिला है. जब यह फिल्म देश में रिलीज हुई तो जबरदस्त हिट हुई थी और रिलीज के बाद से ही फैंस ने फिल्म निर्माता को लेकर अपना प्यार और समर्थन दिया था। राजामौली, कार्तिकेय और शोबू हाल ही में आरआरआर की विशेष स्क्रीनिंग के लिए जापान गए थे। इस दौरान राजामौली ने अपनी अपकमिंग फिल्म, एसएसएमबी 29 के बारे में भी अपडेट साझा किया, जिसमें महेश बाबू मुख्य किरदार निभा रहे हैं।

Previous articleखरगे ने अपनी पारंपरिक सीट से दामाद को मैदान में उतारा Public Live
Next articleभोपाल की ताजुल मस्जिद मे वेद और पुराण भी Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।