जीआरपी ने हीरा, पन्ना, नीलम, पुखराज, गोमेद, लहसुनिया, माणिक, मूंगा सहित लाखो के नग पकड़े Public Live

0
17

जीआरपी ने हीरा, पन्ना, नीलम, पुखराज, गोमेद, लहसुनिया, माणिक, मूंगा सहित लाखो के नग पकड़े

PublicLive.co.in

भोपाल। राजधनी भोपाल की जीआरपी पुलिस टीम ने चैकिंग के दौरान हीरा, पन्ना, नीलम, पुखराज, गोमेद, लहसुनिया, माणिक, मूंगा सहित अन्य कीमती रत्न जप्त किये है, जिनकी कीमत 20 लाख से अधिक की बताई गई है। थाना प्रभारी एवं निरीक्षक जहीर खान ने जानकारी देते हुए बताया कि लोकसभा चुनाव आचार संहिता के दौरान आरपीएफ व जीआरपी की संयुक्त टीम द्वारा गैरकानूनी गतिविधियो पर अकुंश लगाने के लिये लगातार चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। चैकिंग के दौरान जीआरपी टीम को सुबह के समय दो संदिग्ध व्यक्ति एक बड़ा बेग ले जाते प्लेटफार्म नंबर 1 पर नजर आये थे। सदेंह होने पर टीम ने उनसे पूछताछ की तो उनकी पहचान विशाल लोधी पिता खुमान सिंह(24) निवासी ग्राम मानाकुंडा, थाना नजीराबाद, जिला भोपाल हाल निवासी जागृति कालोनी, अशोका गार्डन के रुप में हुई। उनके पास मौजूद बैग के संबंध में पूछताछ करने पर उन्होने बताया कि वह रतन ज्वेलर्स, भोपाल का सेल्समेन है, और बैग में कीमती रत्न हैं। यह सारा माल रतन ज्वेलर्स के संचालक संदीप सोनी का है। जिन्हें वह अलग-अलग दुकानदारों को सप्लाई करता है। पुलिस ने जब इन रत्नों के कागजात दिखाने का कहने पर वह सही बिल बाउचर नहीं दिखा सका। पुलिस ने मालिक तब संदीप सोनी सें संपर्क कर रत्नो के संबध में कागजात दिये जाने को कहा तो वह भी जो उन रत्नों के सही बिल पेश नहीं कर सकें। इसके बाद पुलिस ने दोनो संदिग्ध वयक्तियो के खिलाफ धारा 102 जा. फों के तहत कार्यवाही करते हुए उनके कब्जे से हीरा 14 नग, पन्ना 121 नग, नीलम 104 नग, पुखराज 153 नग, गोमेद 70 नग, लहसुनिया 70 नग, उपरत्न 95 नग, माणिक 121 नग, मोती 98 नग, मूंगा 107 नग, मिक्स सेम्पल पीस 45 नग रत्न जप्त किये। जप्त किये गये रत्नो की कीमत 20 लाख 65 हजार बताई गई है। मामला कायम कर पुलिस ने इसकी सूचना आयकर विभाग एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट गोविंदपुरा वृत्त भोपाल को भी दे दी है।

Previous articleगाजा में सीजफायर का प्रस्ताव यूएनएससी में पास Public Live
Next articleदिल्ली में पकड़ाई  100 करोड़ से ज्यादा की हेरोइन, 3 आरोपी गिरफ्तार Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।