टीटी नगर थाना क्षेत्र में रविवार-सोमवार की दरमियानी दुकानों में आग लगी Public Live

0
14

टीटी नगर थाना क्षेत्र में रविवार-सोमवार की दरमियानी दुकानों में आग लगी

PublicLive.co.in

भोपाल ।  टीटी नगर थाना क्षेत्र में रविवार-सोमवार की दरमियानी दुकानों में आग लग गई। सबसे पहले वहां गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों ने इस आग को देखा और नगर निगम के फायर कंट्रोल रुम को सूचना दी। जिसके बाद मौके पर अग्निशमन वाहनों को भेजा गया। करीब दो घंटे में यह आग बुझा ली गई, लेकिन तक तक दुकानों में रखा सारा सामान जलकर राख हो गया था। निगम के अग्निशमन अधिकारी रामेश्वर नील ने बताया कि कंट्रोल रुम में आग लगने की सूचना करीब 2.51 बजे टीटी नगर थाना स्टाफ द्वारा दी गई थी। इसके बाद माता मंदिर, फतेहगढ़ व बोगदा पुल से एक ब्राउजर, तीन फायर फाइटर और तीन वाटर टैंकर भेजे गए। तब आग ने सात दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया था। वहीं सूचना मिलते ही दुकानदार भी अपने परिवारजनों के साथ मौके पर पहुंच गए थे। लेकिन बड़ी आग होने से इसे बुझाने में करीब दो घंटे का समय लगा। सुबह पांच बजे तक आग पूरी तरह बुझा ली गई।

दमकल में रस्सी बांधकर तोड़ा शटर

दमकलकर्मी राजपाल खरे ने बताया कि हनुमान मंदिर जवाहर चौक में दो किराने, एक मैकेनिक, एक मोबीआइल और एक आटा चक्की समेत सात दुकानों में आग लगी थी। लेकिन शटर पुराना होने की वजह से इसे तोड़ने में परेशानी आ रही थी। ऐसे में शटर में रस्सी बांधकर उसे दमकल से बांधा गया और इसे तोड़ा। जिसके बाद आग बुझाई।

शार्ट सर्किट से लगी आग, आइल से भड़की

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सबसे पहले बिजली के खंबे में शार्ट सर्किट से आग लगी थी। कुछ ही देर में यह आग दुकानों के अंदर पहुंच गई। आसपास मैकेनिक दुकान होने से आइल-पेट्रोल दुकानों के बाहर फैला था। इससे आग और भड़क गई। पास ही आइल की दुकान में लगने की वजह से इसे बुझाने में भी देरी हुई।

Previous articleमृतक साधराम यादव के परिजनों से अचानक मिले धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री Public Live
Next articleदुकान में घुसकर जमकर की मारपीट, हुड़दंगी कैमरे में हुई कैद Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।