दक्षिण चीन सागर में तनाव के बीच मनीला पहुंचा भारतीय तटरक्षक जहाज…. Public Live

0
27

दक्षिण चीन सागर में तनाव के बीच मनीला पहुंचा भारतीय तटरक्षक जहाज….

PublicLive.co.in

मनीला। दक्षिण चीन सागर में तनाव के बीच भारतीय तटरक्षक जहाज ‘समुद्र पहरेदार’ फिलीपींस में मनीला की खाड़ी पहुंच गया। भारतीय तटरक्षक जहाज समुद्री प्रदूषण प्रतिक्रिया क्षमताओं का प्रदर्शन करने के उद्देश्य से पहुंचा है। सोमवार को मनीला पहुंचा यह जहाज 25 मार्च से 12 अप्रैल 2024 तक आसियान देशों (फिलीपींस, वियतनाम और ब्रुनेई) में तैनाती पर है।

इधर, फिलीपींस के विदेश मामलों के विभाग ने बयान जारी कर दक्षिण चीन सागर में फिलीपींस के खिलाफ चीन द्वारा की गई आक्रामक कार्रवाइयों पर विरोध जताया। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इस समय विदेश मंत्री एस. जयशंकर फिलीपींस की आधिकारिक यात्रा पर है और भारतीय तटरक्षक जहाज भी तीन दिवसीय यात्रा पर मनीला पहुंच चुका है।

भारतीय तटरक्षक बल की यह लगातार तीसरी तैनाती

मनीला से यह जहाज हो ची मिन्ह (वियतनाम) और मुरा (ब्रुनेई) बंदरगाह की यात्रा करेगा। यह यात्रा फिलीपीन तटरक्षक, वियतनाम तटरक्षक और ब्रुनेई समुद्री एजेंसियों सहित प्रमुख समुद्री एजेंसियों के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण महत्व रखती है। असियान देशों में भारतीय तटरक्षक बल की यह लगातार तीसरी तैनाती है।

NCC के 25 कैडेटों को भी किया गया तैनात 

मंत्रालय ने बताया कि ‘समुद्र पहरेदार’ विशेष समुद्री प्रदूषण नियंत्रण उपकरणों व प्रदूषण प्रतिक्रिया वाले चेतक हेलीकाप्टर से सुसज्जित है। इसे समुद्र में गिराए गए तेल को एकत्रित कर पुनप्र्राप्त करने के लिए ही बनाया गया है। सरकार की पहल ‘पुनीत सागर अभियान’ में भाग लेने और साझेदार देशों के साथ समन्वय करने के लिए जहाज पर राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के 25 कैडेटों को भी तैनात किया गया है।

बंदरगाह पर ठहरने के समय समुद्र तट पर होगी जहाज की सफाई

मंत्रालय ने बताया कि विदेशी विनिमय कार्यक्रम के तहत एनसीसी कैडेट जहाज के चालक दल के सदस्यों, साझेदार एजेंसियों के कर्मियों, भारतीय दूतावास कर्मियों अरौर स्थानीय युवा संगठनों के समन्वय से जहाज के बंदरगाह पर ठहरने के समय समुद्र तट की सफाई करेंगे।

Previous articleपीएम मोदी ने की बेल्जियम के प्रधानमंत्री से फोन पर बात…. Public Live
Next articleकहीं आपके घर के आंगन में भी तो नहीं लगे ये 3 पेड़? बनते हैं गरीबी की वजह, तुरंत उखाड़कर फेंक दें Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।