दुकान में घुसकर जमकर की मारपीट, हुड़दंगी कैमरे में हुई कैद Public Live

0
15

दुकान में घुसकर जमकर की मारपीट, हुड़दंगी कैमरे में हुई कैद

PublicLive.co.in

बिलासपुर | दुकान में घुसकर मारपीट करते आरोपी सीसीटीवी में कैद हो गए। प्राथी की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। दरअसल, सिविल लाइन थाना पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक, कोनी सेन्दरी हाई स्कूल के पीछे रहने वाला हरिश कुर्रे नीरज जायसवाल के यहां हाईवा का ड्राइवर है, जो 28 जनवरी की सुबह से मंगला दारू भट्ठी के सामने सीवरेज का काम चल रहा था। उसके काम में लगा हुआ था।दोपहर करीब तीन बजे सीवरेज का काम खत्म करके वह अपने श्यामा ट्रेडर्स ऑफिस धुरीपारा मंगला जा रहा था। उसी समय लाल टी-शर्ट पहने हुए अनजान लड़के अपनी मोटर साइकिल क्रमाकं CG10 AZ 1261 से उसे ओवरटेक किया। हरिश से गाली गलौज करने लगा। इस पर ध्यान दिए बिना ही वह हाईवा को श्यामा ट्रेडर्स के सामने खड़ी करके ऑफिस में बैठ गया। उस समय उसके साथ उसके साथी दिव्यांशु बरगाह और अन्य लोग भी ऑफिस में थे।आरोपी कुछ देर बाद बाइक पर अपने साथियों के साथ दुकान में बने ऑफिस पहुंचा और गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए वहां तोड़फोड़ करने लगे। इसके साथ ही लाठी, बेल्चा और डंडे से मारपीट कर गैती को भी मारने के लिए उठाया। घटना के समय हरिश के साथी ने बीच बचाव किया तो उसे भी आरोपीयों ने पीटा। मारपीट से हरिश के हाथ, पैर, सिर, पीठ, कमर में चोंटें आई हैं। जिसकी रिपोर्ट सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई गई। फिलहाल, पुलिस जुर्म दर्ज कर कार्रवाई में जुटी हुई है।

Previous articleटीटी नगर थाना क्षेत्र में रविवार-सोमवार की दरमियानी दुकानों में आग लगी Public Live
Next articleशीत लहर-योगी सरकार ने 192 निराश्रित वृद्धजनों को किया रेस्क्यू  Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।