देश में नफरत और हिंसा के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार : राहुल गांधी  Public Live

0
27

देश में नफरत और हिंसा के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार : राहुल गांधी 

PublicLive.co.in

रायगढ़। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज सोमबार को जन नायक चौक में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में नफरत और हिंसा के लिए बीजेपी और मोदी सरकार जिम्मेदार है। नफरत और हिंसा फैलाने वाले राष्ट्र हितैषी नही हो सकते। 

आज राहुल गांधी ने जन नायक चौक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज देश में जो भी हिंसा फैल रही है उसकी वजह बीजेपी और नरेंद्र मोदी की सरकार है। देश के आमजन के साथ अन्याय हो रहा है। उन्होंने कहा कि मणिपुर में दो समुदाय के लोगों को आपस में भिड़ा कर हिंसा की आग में झोंक दिया गया। मणिपुर जल रहा, लेकिन पीएम मोदी वहां नहीं गए। मुझे भी वहां जाने से रोक दिया गया। उन्होने कहा की देश के किसान, गरीब, पिछड़े वर्ग के लोग, आदिवासी, दलित महिलाओं के साथ लगातार अन्याय हो रहा है। यह अन्याय आर्थिक और सामाजिक दोनों ही रूप में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में अन्याय का बीज बोकर नफरत और हिंसा फैलाने का काम किया जा रहा है। 

इसी बीच सभा में उपस्थित बच्चों से राहुल गांधी ने पूछा, कि आप अन्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हैं या न्याय वाले हिंदुस्तान में? इस सवाल पर बच्चों समेत उपस्थित लोगों ने बुलंद आवाज में कहा, न्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हैं। इसी सभा में बैठी एक बच्ची ने कहा, कि मैं भारत में इसलिए रहना चाहती हूं कि मुझे अपने देश से बहुत प्यार है। इस बात पर राहुल गांधी ने कहा, कि जो बात देश के प्रधानमंत्री मोदी को आज तक समझ नहीं आई, वो बात इस बच्ची ने दो लाइन में कह दिया।  उन्होंने आगे कहा कि जो लोग देश में नफरत फैलाते हैं वो राष्ट्र प्रेमी नहीं होते हैं। 

यहां पर राहुल गांधी ने युवाओं को केंद्र में रखते हुए कहा कि पहले कभी हिंदुस्तान के इतिहास में नहीं हुआ होगा जो प्रधानमंत्री मोदी ने किया, जिन युवाओं ने पांच साल मेहनत किया, पसीना बहाया, उन्हें सेना में नौकरी नहीं दी। एक लाख, 50 हजार युवा भटक रहे हैं। सेना में उनकी भर्ती हो गई थी, बाद में उनकी भर्ती रद्द कर दी गई और कह दिया गया कि हम नहीं लेंगे। हिंदुस्तान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है। 

राहुल गांधी ने कहा कि पहले आदिवासियों को हम आदिवासी ही कहते थे और जल, जंगल, जमीन पर पहला कब्जा उन्हीं का मानते थे, लेकिन पीएम मोदी कहते हैं कि तुम आदिवासी नहीं हो, तुम जंगल में रहते हो वनवासी हो, जल, जंगल, जमीन पर तुम्हारा कोई अधिकार नहीं है। जातिगत जनगणना के संबंध में राहुल गांधी ने कहा कि मैंने लोकसभा में आवाज उठाते हुए कहा कि देश में जातिगत जनगणना होनी चाहिए, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने मना कर दिया, कहा इसकी जरूरत नहीं है। आखिर फिर कैसे पता चलेगा कि देश में कितने पिछड़े है, कितने दलित हैं, कितने आदिवासी हैं। किसके पास क्या है, किसके पास कितनी नौकरियां, किसकी देश में कितनी भागीदारी है। पीएम मोदी नहीं चाहते कि पिछड़ों को यह पता लगे कि उनकी आबादी कितनी है, देश में उनकी भागीदारी कितनी है।

इसके साथ ही राहुल गांधी ने मणिपुर मामले पर मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि वहां आग लगी हुई है, वहां पर भाई-भाई का दुश्मन हो गया, लोग एक-दूसरे को गोली मार रहे, पूरा मणिपुर जल कर खाक हो रहा, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी आज तक मणिपुर नहीं गए। उन्होंने कहा कि मणिपुर के मैतई और कुकी समाज के बीच आग लगा दी गई है, नफरत फैला दी गई। 

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा गत 08 फरवरी को ओडिशा से छत्तीसगढ़ राज्य पहुंची थी। यहां 2 दिन का विश्राम करने के बाद आज फिर यात्रा शुरू हुई है। इससे पहले रविवार दोपहर को राहुल गांधी रायगढ़ शहर पहुंचे थे और शहर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा में माल्यार्पण कर खुली जीप में सवार होकर शहर का भ्रमण किया था। राहुल गांधी को देखने और उनका अभिवादन करने भारी संख्या में लोग सड़कों व घरों की छतों पर नजर आए।   

राहुल ने किया दादी इंदिरा और पिता राजीव गांधी की प्रतिमा का अनावरण 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा ने सोमवार को कोरबा जिले में प्रवेश किया है। राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में अपनी दादी इंदिरा गांधी और पिता राजीव गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया है। वहीं दूसरी तरफ भारत जोड़ो न्याय यात्रा में पार्टी कार्यकर्ताओं समेत समर्थकों का खासा हुजूम देखने को मिला है। कोरबा में भारत न्याय यात्रा की शुरुआत भैंसमा से हुई। इसके बाद ट्रांसपोर्ट नगर चौक पहुंची। यहां राहुल गांधी ने लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि नफरत और हिंसा अन्याय के कारण बढ़ रही है। लोगों ने हमसे कहा कि इसका कारण बेरोजगारी, महंगाई और डर है, इसलिए हमने भारत जोड़ो यात्रा में न्याय शब्द जोड़ा। उन्होंने आर्थिक मामले पर कहा कि अरबपति भी उतना ही टैक्स दे रहा है जितना कि एक आम आदमी दे रहा है। जीएसटी का पैसा आपकी जेब से सरकार के पास जाता है और फिर वहां से वही 2-3 लोगों की जेब में चला जाता है। राहुल गांधी जब दर्री हसदेव बराज पहुंचे तो उनका कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी उनके साथ जीप में सवार हुए। यहां से काफिला कटघोरा पहुंचा, जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी के साथ राहुल का स्वागत किया। यहां बतलाते चलें कि 13 फरवरी को जिला सरगुजा के रायगढ़ बस स्टैंड चौक (उदयपुर) से पदयात्रा शुरू होगी। रात्रि विश्राम झींगो जिला बलरामपुर में किया जाएगा। 14 फरवरी को जिला बलरामपुर के पुराना सर्किट हाउस से पदयात्रा प्रारंभ होकर सीमा रामानुजगंज जिला बलरामपुर में समापन होगा। 

Previous articleकल्कि धाम के शिलान्यास की तैयारियां जारी Public Live
Next articleस्टब बने फिनलैंड के राष्ट्रपति, चुनाव में हुई जीत Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।