धुआं निकलता देख मोबाइल फेंका तो हो गया ब्लास्ट, चपेट में आकर आठवीं का छात्र झूलसा Public Live

0
13

धुआं निकलता देख मोबाइल फेंका तो हो गया ब्लास्ट, चपेट में आकर आठवीं का छात्र झूलसा

PublicLive.co.in

भोपाल। अशोका गार्डन इलाके में आंठवी का छात्र मोबाइल हाथ में लिये घर में सीढियो से नीचे उतर रहा था, अचानक ही मोबाइल से धुआ निकलता देख उसने घबराकर मोबाइल फेंक दिया जमीन पर गिरते ही मोबाइल फट गया जिसकी चपेट में आकर छात्र के दोनों पैर और एक हाथ मामूली रुप से झुलस गये। 

जानकारी के मुताबिक पुराना अशोका गार्डन में रहने वाले दिलीप कुमार पाटिल निजी काम करते हैं। उनका 15 साल का बेटा पुष्कर पाटिल आठवीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा है। बीती दोपहर पुष्कर मकान की पहली मंजिल पर पढ़ाई कर रहा था। पढ़ाई के बाद वह मोबाइल हाथ में लेकर सीढ़यों से नीचे आ रहा था, तभी उसने देखा की हाथ में पकड़े मोबाइल से धुआं निकल रहा है। घबराकर उसने मोबाइल को दूर फैंका और जमीन पर गिरते ही मोबाइल फट गया। इससे पुष्कर के दोनों पैर और एक हाथ मामूली रुप से झुलस गया साथ ही आसपास पड़े कपड़ों ने भी आग पकड़ ली। पुष्कर ने तुरंत ही शोर मचाकर परिवार वालो को बुलाते हुए जल रहे कपड़ो पर पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया। बाद में परिवार वालो ने आग को बुझाया जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया। परिवार वाले छात्र को इलाज के लिये अस्पताल लेकर पहुंचे मामूली रुप से झूलसने के कारण प्राथमिक उपचार के बाद ही उसे छुट्टी दे दी गई। 

 

Previous articleप्रॉपटी डीलिंर ने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष को लगाई 30 लाख की चपत Public Live
Next articleथाना पिपलानी पुलिस ने घटना के 24 घंटे के अन्दर ही दो चोरो को किया गिरफ्तार  Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।