पीएम मोदी ने लॉन्च की ‘मुफ्त बिजली’ योजना Public Live

0
14

पीएम मोदी ने लॉन्च की ‘मुफ्त बिजली’ योजना

PublicLive.co.in

Muft Bijli Yojana सौर ऊर्जा (Solar Energy) को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) प्रतिबद्ध है और इसी के तहत इस साल अंतरिम बजट में एक करोड़ घरों की छत पर सोलर प्रणाली लगाने की सरकारी योजना की घोषणा की गई थी। तब उसका नाम सूर्योदय योजना रखा गया था लेकिन अब इसका नाम बदल दिया गया है। इसका नाम अब ‘पीएम सूर्य घर- मुफ्त बिजली योजना’ कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने मंगलवार को खुद इस योजना को बढ़ावा देते सोशल मीडिया साइट X पर ट्वीट किया। उन्‍होंने लिखा, ”आइए सौर ऊर्जा और सतत प्रगति को बढ़ावा दें। मैं सभी आवासीय उपभोक्ताओं, विशेष रूप से युवाओं से आग्रह करता हूं कि वे https://pmsuryaghar.gov.in/ पर अप्‍लाई कर पीएम – सूर्य घर: मुफ्त बिजली योजना को मजबूत बनाएं।”

मोदी सरकार ने इस महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा 2024 के अंतरिम बजट में की थी जिसका उद्देश्‍य देश भर में 1 करोड़ से अधिक घरों की छतों पर सोलर पैनल लगाकर सौर ऊर्जा को बढ़ावा देना और बिजली बिल को कम करना है। आइए जानते हैं कि यह योजना आखिर है क्‍या और उपभोक्‍ता इसका लाभ कैसे उठा सकते हैं।

योजना के फायदे

सरकार 1 किलोवाट क्षमता तक के सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी देगी। लाभार्थी हर महीने 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली का उत्पादन और उपयोग कर सकेंगे। इससे बिजली बिल में काफी कमी आएगी।

खुद की सौर ऊर्जा उत्पादन से बिजली आपूर्ति पर निर्भरता कम होगी, खासकर ग्रामीण और दूरस्थ क्षेत्रों में जहां ग्रिड बिजली अनियमित है।

सौर ऊर्जा एक स्वच्छ और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत है। इस योजना से कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी और पर्यावरण संरक्षण में मदद मिलेगी।

सरकार सोलर पैनलों के रखरखाव और मरम्मत के लिए सहायता प्रदान करेगी। अतिरिक्त बिजली उत्पादन को ग्रिड को बेचकर अतिरिक्त कमाई भी की जा सकती है।

Previous articleअबु धाबी के हिंदू मंदिर के लिए भारतीय राज्यों ने दिया योगदान Public Live
Next articleआदेश के बावजूद भी नहीं हटे चारागाह की 557 एकड़ जमीन से अतिक्रमण, HC ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।