पूर्व मंत्री अमरजीत भगत ने की 13 करोड़ की अवैध कमाई Public Live

0
13

पूर्व मंत्री अमरजीत भगत ने की 13 करोड़ की अवैध कमाई

PublicLive.co.in

छत्तीसगढ़ के पूर्व खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के घर आयकर की जांच में करोड़ों की अघोषित संपत्ति का पता चला है। आयकर विभाग ने अंबिकापुर कलेक्टर को पत्र लिखकर 13 लोगों की संपत्ति का ब्यौरा मांगा है।छत्तीसगढ़ के पूर्व खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के घर आयकर की जांच में करोड़ों की अघोषित संपत्ति का पता चला है। दस्तावेजों और डिजिटल साक्ष्यों के आधार पर पूर्व मंत्री द्वारा अपने राजनैतिक पहुंच से सहयोगियों के माध्यम से 13 करोड़ रुपये की अवैध कमाई का पता चला है। करीबियों द्वारा नियम विरुद्ध तरीके से आठ करोड़ रुपये का लाभ अर्जित करने का पता चला है। रियल एस्टेट में पूर्व मंत्री व करीबी सहयोगियों द्वारा करोड़ों के निवेश का भी पता चला है।

जारी बयान में सुरभि अहलूवालिया ने कहा है कि 31 जनवरी 2024 को एक राजनीतिक रूप से उजागर व्यक्ति (पीईपी) अमरजीत भगत व उसके करीबी सहयोगियों और कुछ सरकारी अधिकारियों के यहां तलाशी और जब्ती अभियान शुरू किया गया था। भगत के करीबी सहयोगियों में से एक रियल एस्टेट के कारोबार में लगा हुआ है।तलाशी अभियान में छत्तीसगढ़ के रायपुर, सरगुजा, सीतापुर और रायगढ़ जिलों में फैले 25 से अधिक परिसरों को शामिल किया गया। तलाशी अभियान के दौरान कई आपत्तिजनक दस्तावेज़, डिजिटल बैलेंस शीट और डिजिटल सबूत पाए गए। इन्हें जब्त कर लिए गए है। ये साक्ष्य इन व्यक्तियों द्वारा अपनाई गई कर चोरी और अन्य संदिग्ध प्रथाओं के तौर-तरीकों को उजागर करते हैं।प्रारंभिक विश्लेषण से पता चलता है कि इन व्यक्तियों ने सरकार से संबंधित कार्यों में विभिन्न व्यक्तियों को अनुचित लाभ देने के बदले में अवैध धन प्राप्त किया है। तलाशी के दौरान बरामद किए गए आपत्तिजनक दस्तावेजों में कथित पीईपी द्वारा अपने करीबी सहयोगियों के माध्यम से नकद में प्राप्त लगभग 13 करोड़ रुपये का विवरण शामिल है।

Previous articleभारत के तीन खिलाड़ी प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के लिए शॉर्टलिस्ट Public Live
Next articleअपराध को कंट्रोल करने में नाकाम हुए तो SP संग थाना प्रभारियों पर भी होगी कार्रवाई Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।