बार-बार दिल्ली क्यों जाते हैं सीएम मोहन यादव? पीएम से मीटिंग के बाद के मैसेज में है राज Public Live

0
15

बार-बार दिल्ली क्यों जाते हैं सीएम मोहन यादव? पीएम से मीटिंग के बाद के मैसेज में है राज

PublicLive.co.in

नई दिल्ली ।   मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने सोमवार सुबह दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। संसद भवन में हुई इन मुलाकातों के दौरान डॉ. यादव ने मध्य प्रदेश में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री को दी। सीएम ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात की। प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद डॉ. यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री को हमने बताया कि प्रदेश में किस तरह विकास कार्यों की गति दी जा रही है। उन्होंने प्रदेश के विकास पर ध्यान केंद्रित करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही आश्वासन भी दिया है कि राज्य में विकास कार्यों में केंद्र सरकार की तरफ से हरसंभव सहायता मिलेगी। प्रधानमंत्री को मंत्रियों के लिए आयोजित ट्रेनिंग वर्कशॉप की जानकारी भी दी गई। इस पर उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की।   

झाबुआ आ सकते हैं प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 11 फरवरी को झाबुआ दौरा प्रस्तावित है। लोकसभा चुनावों को देखते हुए आदिवासीबहुत इलाके में प्रधानमंत्री के दौरे को चुनावी रणनीति के तहत महत्वपूर्ण समझा जा रहा है। बताया गया कि इस दौरे को लेकर भी मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से चर्चा की है। 

शीर्ष नेतृत्व के दिशा-निर्देशों पर कर रहे काम 

डॉ. यादव ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मुलाकात से पहले मीडिया से कहा कि हम शीर्ष नेतृत्व के मार्गदर्शन और दिशानिर्देशों के तहत प्रदेश के विकास को गति दे रहे हैं। साथ ही अऩ्य निर्णय लिए जा रहे हैं। 

दिल्ली दौरों को लेकर बढ़ी हलचल

डॉ. मोहन यादव ने दिसंबर में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। तब से अब तक उनके दिल्ली के कई दौरे हो चुके हैं। मंत्रियों का नाम तय करने से लेकर विभागों के बंटवारे तक, हर फैसले केंद्रीय नेताओं की रायशुमारी से लिए गए हैं। जानकार कहते हैं कि डॉ. यादव पहली बार के मुख्यमंत्री हैं। इस वजह से वह सभी बातों को समझ रहे हैं। कोई भी बड़ा फैसला लेने से पहले केंद्रीय नेतृत्व से विचार-विमर्श कर रहे हैं। वे रविवार को दिल्ली पहुंचे और सुबह एक कार्यक्रम में भाग लिया। इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मुलाकात की। 

  

लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा एक्टिव 

लोकसभा चुनावों के लिए भाजपा ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिए हैं। क्लस्टर लेवल पर जिम्मेदारी दी गई है। डॉ. मोहन यादव भी बतौर मुख्यमंत्री अपनी सख्त प्रशासक की छवि में नजर आ रहे हैं। गुना में सड़क हादसे के बाद उन्होंने परिवहन विभाग में कई अफसरों का तबादला कर दिया। इसी तरह ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के दौरान शाजापुर में एक ड्राइवर से कड़े शब्द बोलने वाले कलेक्टर को हटाया। फिर दो मामलों में एसडीएम को हटाया।

Previous articleविरोधी दलों की सरकारों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही मोदी सरकार : टीएमसी  Public Live
Next article आपकी मेहनत देखकर लग रहा अगली बार आप दर्शक दीर्घा में दिखेंगे : पीएम मोदी Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।