बिग बॉस के बाहर एक बार फिर हुई अंकिता लोखंडे की बेज्जइती Public Live

0
14

बिग बॉस के बाहर एक बार फिर हुई अंकिता लोखंडे की बेज्जइती

PublicLive.co.in

बिग बॉस 17 से बाहर आने के बाद कंटेस्टेंट्स के नाम लगातार सुर्खियां बटोर रहे हैं। कई ऐसे बिग बॉस के सदस्य और फाइनलिस्ट हैं, जो बिग बॉस से घर से निलकते ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम के जरिए अपने फैंस से रूबरू हुए हैं। इस कड़ी में अब अगला नाम अंकिता लोखंडे का नाम शामिल हो रहा है।लेकिन इंस्टा लाइव अंकिता के लिए उम्मीद के मुताबिक असरदार साबित नहीं हुआ है और टीवी एक्ट्रेस के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया है।जब सलमान खान का शो बिग बॉस सीजन 17 शुरू हुआ था तो उस वक्त अंकिता लोखंडे को इस शो के विनर का प्रबल दावेदार माना गया। हालांकि जैसे ये सीजन आगे बढ़ा अंकिता का सफर उतार-चढ़ाव से भरा साबित होने लगा। आलम ये रहा है कि अंकिता लोखंडे बिग बॉस 17 की टॉप 4 फाइनलिस्ट रहीं।

इसके बाद अब गुरुवार को अंकिता ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम हैंडल पर लाइव सेशन किया। जिसकी शुरुआत तो शानदार रही लेकिन जैसे-जैसे एक्ट्रेस का ये सेशन आगे बढ़ा तो फैंस की संख्या में भारी गिरावट देखी गई।बिग बॉस 17 ताजा खबर के अनुसार अंकिता लोखंडे बिग बॉस इतिहास की सबसे कम इंस्टा लाइव व्यूज जुटाने वाली टॉप-4 कंटेस्टेंट में से एक बनी हैं। अदाकारा के लाइव का हाईएस्ट व्यूज नंबर 14.1K के था कुछ देर बाद लुढ़कर 7K पर आ गया। इस तरह से अंकिता के नाम एक अनचाहा रिकॉर्ड दर्ज हो गया। बिग बॉस 17 के बाद अंकिता लोखंडे फिल्मी दुनिया में कमाल दिखाती हुई नजर आएंगी। दरअसल हाल ही में अंकिता की अपकमिंग फिल्म स्वंत्रत वीर सावरकर का एलान हुआ है और इसमें वह लीड रोल प्ले करती दिखाई देंगी।रणदीप हुड्डा स्टारर इस मूवी का टीजर बहुत पहले ही रिलीज किया गया है। फैंस अंकिता और रणदीप की इस फिल्म का बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। 

Previous article12 फरवरी को एनडीए में शामिल हो जाएंगे जयंत चौधरी-राजभर Public Live
Next articleअमिताभ बच्चन ने दोबारा किये रामलला के दर्शन Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।